" /> हिंदुस्थान के घर-घर में पहुंचा पाकिस्तान का हनीट्रैप!

हिंदुस्थान के घर-घर में पहुंचा पाकिस्तान का हनीट्रैप!

युवाओं को फेसबुक से फसाने में जुटी है हसीनाओं की फर्जी फौज

सोशल मीडिया की घुसपैठ आज घर-घर में हो चुकी है। अधिकांश युवा वर्ग इसका दीवाना हो चुका है। मगर यह दीवानापन बुरी तरह दुश्मन के जाल में फंसा भी सकता है। पाकिस्तान इसी का फायदा उठा रहा है। पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के एजेंटों ने हजारों खूबसूरत लड़कियों की फेक आईडी बना रखी है। आईएसआई की ये फर्जी फौज फेसबुक के जरिए हिंदुस्थानी युवकों को फांसने में जुटी है। इश्क अंधा होता है। वर्चुअल इश्क में बिना कुछ सोचे समझे मजनूं के अंदाज में लड़के अपनी लैला से मिलने निकल पड़ते हैं और मुसीबत में फंस जाते हैं। ऐसा वाकया कई बार हो चुका है और एक बार फिर यही कहानी दोहराई गई। मगर पुलिस और बीएसएफ की सतर्कता से इस बार धाराशिव का युवक पाकिस्तानी हनी ट्रैप के जाल में उलझने से बच गया।
मिली जानकारी के अनुसार गुजरात स्थित कच्छ के रण में गुरुवार को बीएसएफ ने एक २० साल के लड़के को पकड़ा। वह पाकिस्तान में अपनी प्रेमिका से मिलने के लिए अवैध तरीके से सीमा पार करने का प्रयास कर रहा था। लड़के ने बताया कि वह पाकिस्तान के कराची शहर के शाह पैâसल कस्बे की लड़की से मिलने के लिए लगभग १,२०० किलोमीटर की यात्रा करके आया है। युवक ने फेसबुक पर लड़की से दोस्ती की थी और दोनों फेसबुक-व्हॉट्सऐप के जरिए सोशल मीडिया पर लगातार संपर्क बनाए हुए थे। वह पाकिस्तान जाना चाहता था और उसने नेविगेशन के लिए गूगल मैप का इस्तेमाल करने की कोशिश की। वह बीएसएफ कर्मियों को बीमार अवस्था में मिला। उसने बताया कि कच्छ के रण को पार करने की कोशिश के दौरान वह बेहोश हो गया। एटीएम कार्ड, आधार और पैन कार्ड जैसे अन्य दस्तावेजों से सुरक्षाकर्मियों ने उसकी पहचान की। तलाशी अभियान के दौरान बीएसएफ को एक बाइक मिली, जिसे बॉर्डर के करीब पहुंचने पर युवक ने छोड़ दिया था। महाराष्ट्र पुलिस ने गुजरात पुलिस को एक लापता शिकायत के बारे में सूचित किया था। यह शिकायत उस युवक के माता-पिता द्वारा दर्ज कराई गई थी। गुजरात पुलिस ने इस मामले में सीमा सुरक्षा बल के जवानों से मदद मांगी थी। युवक को आगे की जांच के लिए पुलिस को सौंप दिया गया ताकि उसके कहानी की सच्चाई का पता लगाया जा सके। बता दें कि यह पहली बार नहीं है जब किसी ने प्यार की खातिर पाकिस्तान जाने की कोशिश की है। २०१२ में मुंबई के लड़के हामिद अंसारी ने भी ऐसी ही गलती की थी। एक लड़की से मिलने के लिए अफगानिस्तान के जरिए पाकिस्तान पहुंच गया था। अंसारी को पाकिस्तान में गिरफ्तार किया गया और २०१८ में जेल की सजा पूरी करने के बाद वह स्वदेश लौट सका था।