" /> कोरोना हारेगा! ३,५२० बेड्स की जंबो  सुविधा का लोकार्पण!, संक्रामक मरीजों के लिए बनाओ अत्याधुनिक अस्पताल! – मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे

कोरोना हारेगा! ३,५२० बेड्स की जंबो  सुविधा का लोकार्पण!, संक्रामक मरीजों के लिए बनाओ अत्याधुनिक अस्पताल! – मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे

कोरोना के इलाज के लिए आधुनिक उपचारवाले कई अस्पताल मुंबई व आसपास के क्षेत्र में स्थापित किए गए हैं। इनमें ऑक्सीजन के साथ-साथ आईसीयू भी स्थापित किए गए हैं। हालांकि ये सुविधाएं अस्थायी हैं। अगला कदम मुंबई में संक्रामक रोगों के लिए अत्याधुनिक उपचार सुविधाओं के साथ एक स्थायी अस्पताल बनाने का होना चाहिए, ऐसा आह्वान कल मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने किया। कोरोना रोगियों के इलाज के लिए सिडको की सहायता से मुलुंड में, मेट्रो के सहयोग से दहिसर में, सामाजिक उत्तरदायित्व निधि से नमन समूह की ओर से महालक्ष्मी रेस कोर्स में और बीकेसी में १२० आईसीयू बेड के साथ कुल ३,५२० बेड के अस्पतालों का उदघाटन मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के हाथों किया गया। इस मौके पर मुंबई के पालक मंत्री असलम शेख, मुंबई उपनगर के पालकमंत्री आदित्य ठाकरे, मुंबई की महापौर किशोरी पेडणेकर, महापालिका आयुक्त आई.एस. चहल आदि उपस्थित थे।
इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना का मुकाबला करने के लिए खुले क्षेत्र के अस्पतालों की अवधारणा को पेश करनेवाला महाराष्ट्र देश का पहला राज्य है। महाराष्ट्र ने ऐसे खुले जगह के अस्पतालों में आईसीयू की सुविधा स्थापित कर देश के सामने मिसाल कायम की है। हालांकि ये सभी अत्याधुनिक सुविधाएं अस्थायी हैं, इनका दर्जा बरकरार रखा गया है। ये स्थायी अस्पताल की तरह मजबूत हैं। ये सभी सुविधाएं चौंकानेवाली हैं, ऐसा मुख्यमंत्री ने कहा। उन्होंने कहा कि हम निश्चित रूप से कोरोना के साथ युद्ध जीतेंगे, लेकिन भविष्य में भी हमें इस तरह के संक्रामक रोगों के इलाज के लिए स्थायी सुविधाएं प्रदान करने के उद्देश्य से मुंबई और आसपास के परिसर में अस्पतालों का निर्माण करने का प्रयत्न करना चाहिए, ऐसा सुझाव मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर दिया।