" /> मुंबई में झमाझम ठाणे जिले में कम

मुंबई में झमाझम ठाणे जिले में कम

मुंबई में शुक्रवार से शुरू बारिश का जोर रविवार को भी रहा तो दूसरी ओर ठाणे जिले में बारिश का जोर कम रहा। ठाणे में शनिवार से शुरू हुई बरसात रविवार के दिन तक शुरू थी लेकिन पिछले वर्ष ५ जुलाई तक हुई बरसात के मुकाबले इस वर्ष ५ जुलाई तक हुई बरसात बेहद कम है। मौसम विभाग अधिकारियों की माने तो इस वर्ष बदलते मौसम के चलते बरसात देरी से शुरू हुई है लेकिन आनेवाले दिनों में अधिक मात्रा में बरसात होगी।
बता दें कि मौसम विभाग के संकेत के मुताबिक मुंबई में पिछले तीन दिनों से अच्छी बारिश हो रही है। पिछले २४ घंटों में मुंबई शहर में १५१.५१ मिमी, पूर्वी उपनगर में १८२. ०३ मिमी और पश्चिम उपनगर में १४५. ८९ मिमी बारिश रिकॉर्ड की गई। दूसरी और अं ठाणे जिले में अनुमान के विपरीत जुलाई महीने की शुरुआत तक धीमी बरसात देखने को मिली। ठाणे जिला प्रशासन द् के अनुसार ५ जुलाई तक कुल ४१८३.२२ मिलीमीटर बरसात दर्ज की गई है। वहीं पिछले वर्ष ५ जुलाई तक कुल ५७६७.८० मिलीमीटर बरसात हुई थी। यदि दोनों वर्षों की तुलना की जाए तो इस वर्ष १५८४.५८ मिलीमीटर कम बरसात ठाणे जिले में हुई है। मौसम विभाग की माने तो आनेवाले दिनों में बरसात अधिक मात्रा में होगी। यदि मौसम विभाग का अंदेशा सही साबित हुआ तो ठाणेकरों को पानी की समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा।

नो जलजमाव
ठाणे जिले में जिला प्रशासन व सभी महानगपालिकाओं द्वारा किए गए नालियों के कार्य और सफाई के चलते ठाणे जिले में कहीं भी जलजमाव की स्थिति देखने को नहीं मिली है। जलजमाव न होने का श्रेय सभी मनपाओं को नागरिक देते नजर आ रहे हैं।
पेड़ व दीवारें ढ़ही
मुंबई शहर और उपनगरों में बारिश के चलते आपदा प्रबंधन विभाग को १२ जगहों पर दीवार ढहने, ६० जगह पेड़ गिरने और ३५ जगह शॉर्ट सर्किट की शिकायतें मिली है। दूसरी ओर ठाणे में बारिश की वजह से सड़क के धंसने, दो इमारटोन के कुछ हिस्से ढहने, दो सुरक्षा दीवार तथा डेढ़ दर्जन से अधिक पेड़ो के धराशायी होने की घटना घटी हैं। उक्त घटनाओं में किसी के हताहत होने की खबर नहीं मिली है। इसी तरह खारटन रोड, शीतल माता मंदिर के बगल स्थित २० से ३० फुट रोड़ पर भूस्खलन हुआ है। नौपाडा प्रभाग समिति के कार्यकारी अभियंता की मौजूदगी में राहत कार्य शुरू है।
मदद के लिए आगे आए शिवसेना सांसद
चंदन वाड़ी,शिवदर्शन सोसायटी के सामने स्थित जामभुलकर चाल के पास की सुरक्षा दीवार का २५ से ३० हिस्सा धराशाई हो गया है। इस घटना में चाल निवासी ७ परिवार बाल-बाल बच गए। परिवार के सभी सदस्यों को पास स्थित अनुराधा मंगल कार्यालय में स्थानांतरित कर दिया गया है। घटना की खबर मिलने के बाद मौके पर पहुंचे शिवसेना सांसद राजन विचारे के सौजन्य से सभी परिवारों के लिए खान- पान सहित सभी तरह की सुविधा मुहैया करा दी गई है।
७ शहरों में १,१२७ मिमी बारिश
दो दिनों से हो रही लगातार मूसलाधार बारिश के चलते जन-जीवन पुरु तरह अस्त व्यस्त हो गया है। जिले के ७ शहरों में २४ घंटे के भीतर १ हजार १२७ मिलीमीटर बारिश रिकार्ड की गई है। बारिश के चलते कई जगहों पर पेड़ गिरने के चलते यातायात बाधित होने की खबर है। जिलाधिकारी कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार पिछले २४ घंटे के भीतर कल्याण में १९२ मिमी,उल्हासनगर में १६७ मिमी,ठाणे में ३७७ मिमी, भिवंडी में १४० मिमी,अंबरनाथ में १३८.५० मिमी,मुरबाड में ५२.५६ मिमी और शाहपुर में ६० मिमी. बारिश रिकार्ड की गई है। रविवार को कल्याण में वालधुनी `एफ’ केबिन के पास एक बड़ा पेड़ गिरने से घंटों यातायात बाधित रहा। वहीं खडेगोलवली और उल्हास नदी में बरसात का पानी उफान पर है।
पेड़ गिरने से बिजली बंद
भारी बरसात के कारण बदलापुर -पूर्व के भारतीय स्वीट्स के समीप सएक विशाल पेड़ रविवार सुबह गिर पड़ा। पेड़ बिजली के तार पर गिरने के कारण यहां घंटों तक बिजली आपूर्ति बंद रही।

पवई तालाब हुआ ओवरफ्लो

मुंबई में पिछले तीन दिन से हो रही मूसलाधार बारिश से पवई तालाब ओवरफ्लो हो गया है। सबेरे ६ बजे तालाब ओवरफ्लो होकर बहने लगा। ५४५ करोड़ लीटर की क्षमतावाले इस तालाब का पानी औद्योगिक कंपनियों को सप्लाई किया जाता हैं। बता दें कि मनपा ने पवई तालाब का निर्माण वर्ष १८९० में किया था। इस तालाब की जल क्षमता ५,४५५ मिलियन लीटर है। पवई तालाब के अलावा मुंबई को पानी आपूर्ति करनेवाली सातों झीलों में अच्छी बारिश रिकॉर्ड की गई है। पिछले दो दिनों की बारिश में इन झीलों में ७ हजार मिलियन लीटर पानी जमा हुआ।