" /> यूपी में जंगलराज जारी है…,  थाने में फरियादियों को ही लूटा

यूपी में जंगलराज जारी है…,  थाने में फरियादियों को ही लूटा

 दो सिपाहियों पर एफआईआर दर्ज

यूपी पुलिस के भी कारनामे अजीब हैं। अपराधियों पर काबू पाना तो दूर की बात है, अब यूपी पुलिस खुद ही अपराध करने में जुट गई है। ऐसे में यूपी में जंगलराज जारी है, यह कहने में कोई हर्ज नहीं है। ऐसे ही दो पुलिसवालों ने वर्दी की आड़ में लूट को अंजाम दिया, वह भी पुलिस स्टेशन के अंदर। यह घटना प्रतापगढ़ जिले में घटी। यहां के एक पुलिस स्टेशन में फरियाद करने पहुंचे तीन ग्रामीणों की मदद करने की बजाय सिपाहियों ने न सिर्फ उनकी जमकर पिटाई की बल्कि उनके रुपए और मोबाइल भी लूट लिए।
यह दुस्साहसिक प्रकरण संज्ञान में आने के बाद पुलिस कप्तान ने फिलहाल आरोपी सिपाहियों के खिलाफ केस दर्ज कर क्षेत्रीय दारोगा व आरोपी सिपाहियों को सस्पेंड कर दिया है। थानेदार को भी लापरवाही बरतने के आरोप में हटा दिया गया है।
मिली जानकारी के अनुसार बाघराय थाना क्षेत्र के अंतर्गत शुकुलपुर छतार गांव निवासी जयचंद्र ने पारिवारिक संपत्ति के बंटवारे के विवाद को लेकर ३१ अगस्त को थाने में शिकायत की थी, जिस पर हेड कांस्टेबल हरिश्चंद्र बिंद व कांस्टेबल गुरुवेंद्र सिंह ने दोनों पक्षों को दो दिन बाद थाने पर बुलाया। सिपाहियों ने जयचंद्र के विपक्षियों से बात करके उनसे रिश्वत लेकर उन्हें छोड़ दिया। इसके बाद पीड़ित फरियादी से भी सिपाहियों ने रिश्वत मांगी। न देने पर पीड़ित फरियादी के भाई श्रीचंद्र की जेब से पैसे व मोबाइल सिपाही हरिश्चंद्र बिंद ने जबरन निकाल लिए। इंतेहा तो तब हुई जब पीड़ित सहित तीनों भाइयों जयचंद्र, श्रीचंद्र व हरिश्चंद्र को सिपाही गुरुवेंद्र सिंह व हरिशचंद्र बिंद ने थाने में पीपल के पेड़ से सटाकर बेंत से बेरहमी से मारा-पीटा और गालियां दीं। पीड़ित पक्ष ने गत दिवस पुलिस अधीक्षक अनुराग आर्य से मिलकर आप-बीती सुनाई। इस पर उन्होंने जांच कराई। पीड़ित के आरोप सत्य पाए जाने पर कप्तान ने आरोपी सिपाहियों पर एससी-एसटी एक्ट सहित अनेक गंभीर धाराओं में थाने में फरियादी के साथ लूट व मारपीट करने का अभियोग दर्ज करवा दिया है। मुकदमे की विवेचना सीओ सदर को सौंपी गई है। आरोपी हेड कांस्टेबल हरिश्चंद्र बिंद, कांस्टेबल गुरुवेंद्र सिंह व दारोगा संतोष कुमार यादव को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। थानेदार रवींद्र यादव को भी कप्तान ने लाइन हाजिर कर दिया है।