" /> रेड लाइट एरिया बना ग्रीन जोन : कोरोनामुक्त हुआ कमाठीपुरा!

रेड लाइट एरिया बना ग्रीन जोन : कोरोनामुक्त हुआ कमाठीपुरा!

दक्षिण मुंबई स्थित रेड लाइट एरिया के नाम से चर्चित कमाठीपुरा आज सुर्खियों में है। वो इसलिए क्योंकि यह रेड लाइट एरिया आज ग्रीन जोन में परिवर्तित हो गया है। मनपा की मानें तो यह पूरा इलाका कोरोनामुक्त हो गया है। यहां चलाए गए स्क्रीनिंग कैंप, जागरूकता अभियान की वजह से मनपा इस इलाके को ग्रीन जोन में तब्दील करने में सफल हुई है।

बता दें कि मनपा के प्रशासनिक ई वॉर्ड के अंतर्गत आनेवाले कमाठीपुरा की १३ गलियों में तकरीबन डेढ़ से दो लाख लोग रहते हैं, जिनमें करीब ६ हजार महिलाएं देह व्यापार से जुड़ी हुई हैं। कोरोना महामारी को नियंत्रित करने के लिए मुंबई सहित देश भर में लॉकडाउन किया गया। मनपा उपायुक्त हर्षद काले तथा सहायक मनपा आयुक्त मकरंद दगड़खैरे के मार्गदर्शन में कमाठीपुरा परिसर में ३० से अधिक फीवर कैंप लगाए गए और १ हजार से ज्यादा लोगों की स्क्रीनिंग की गई। इस दौरान कोरोना के संदिग्ध मरीजों को क्वारंटीन किया गया। इसके अलावा यहां लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क पहनने आदि को लेकर जागरूक किया गया। लोगों ने भी इसे अच्छा प्रतिसाद दिया। इस दौरान स्थानीय सामाजिक संस्था ‘ग्रेस फाउंडेशन’ तथा ‘अनुलोम संस्था’ का भी मनपा को सहयोग मिला। ग्रेस फाउंडेशन के अध्यक्ष शंकर अन्ना ने बताया कि पुलिस और मनपा के सहयोग से यहां के जरूरतमंद लोगों को अनाज वितरण से लेकर गांव भेजने तक काफी मदद की गई। स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. शैलेंद्र गुजर ने बताया कि कमाठीपुरा को कोरोनामुक्त करने में स्थानीय लोगों का विशेष योगदान रहा है। अगर यहां के लोग निर्देशों का सही ढंग से पालन नहीं करते तो मुंबई का यह रेड लाइट एरिया कभी भी ग्रीन जोन में परिवर्तित नहीं हो पाता।