लोकेशन के आधार पर `लॉक’ हुआ अपहरणकर्ता : बोइसर से हुई गिरफ्तारी

एक डेढ़ वर्षीय मासूम का अपहरण कर पुलिस को लगातार चकमा दे रहा अपहरणकर्ता  मोबाइल लोकेशन के आधार पर पुलिस के घेरे में `लॉक’ हो गया। इसके बाद पुलिस ने उसे बोइसर से गिरफ्तार कर अपहृत बच्चे को सही सलामत छुड़ा लिया है।
उल्लेखनीय है कि दिवा स्थित गणेश नगर निवासी मोनू पासी के डेढ़ वर्षीय बेटे आकाश का ६ जुलाई की शाम को उनके ही गांव का रहनेवाला नागेश पासी ने अपहरण कर लिया था। आरोपी नागेश पासी उस दिन उनके घर मेहमान बनकर आया था और बच्चे को घुमाने के बहाने गणेश तालाब परिसर ले गया था। उस समय आकाश के चाचा अवधेश भी साथ में थे, पर आरोपी नागेश ने उन्हें समान लाने के बहाने बगल स्थित एक मेडिकल हाल पर भेज दिया था। मोनू पासी ने अपने बेटे आकाश के अपहरण की शिकायत मुंब्रा पुलिस थाने में दर्ज कराई थी। मामले की गंभीरता को देखते हुए उच्च अधिकारियों ने स्थानीय मुंब्रा पुलिस और ठाणे अपराध शाखा की यूनिट १ को संयुक्त रूप से इसकी जांच करने का आदेश दिया। पनवेल निवासी आरोपी नागेश के मोबाइल कॉल डिटेल के आधार पर पुलिस ने इस दौरान चार लोगों को हिरासत में लिया और पूछताछ की गई। नागेश के मोबाइल नंबर को पुलिस ने सर्विलांस पर डाल रखा था। उसके लोकेशन को ट्रेस किया जा रहा था पर वह लगातार अपनी लोकेशन बदल कर पुलिस को चकमा देने में सफल हो जाता था। ११ तारीख को आरोपी नागेश ने गांव में रह रहे शिकायतकर्ता मोनू पासी के छोटे भाई लवकुश पासी को अपने मोबाइल से फोन किया और डेढ़ वर्षीय आकाश को छोड़ने के एवज में ५ लाख की मांग की। इसी कॉल के आधार पर पुलिस ने उसका लोकेशन ट्रेस कर लिया। पूरी जानकारी इकट्ठा करने के बाद १२ तारीख को पुलिस उसके बोइसर स्थित लोकेशन पर पहुंच गई और उसे गिरफ्तार कर लिया। उसके साथ मासूम आकाश भी था, इसके लिए नागेश को गिरफ्तार करने से पूर्व पुलिस को विशेष सावधानी बरतनी पड़ी।