" /> शातिर चोर चढ़े पुलिस के हत्थे : बनाते थे बंद घरों-वाहनों को निशाना

शातिर चोर चढ़े पुलिस के हत्थे : बनाते थे बंद घरों-वाहनों को निशाना

कोरोना महामारी के कारण कुछ लोग घरों में बंद हैं तो कई बीमारी का डर और बेराेजगारी की मार से त्रस्त होकर अपने गांव भाग गए हैं। इस संकट के दौरान मालाड निवासी दो शातिर चोर बंद घरों को निशाना बना रहे थे। नई वारदात को अंजाम देने की तैयारी कर रहे उक्त चोरों को कुरार पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

बता दें कि लॉकडाउन में मालाड-पूर्व व आसपास क्षेत्र में चोरी की वारदातें काफी बढ़ गई थीं। एडिशनल सीपी दिलीप सावंत व वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक बाबा साहेब सालुंखे के मार्गदर्शन तथा पीआई चालके के नेतृत्व में एपीआई गोरखनाथ घार्गे व सातर्डेकर की टीम चोरी की वारदात को अंजाम देनेवाले चोरों को ढूंढ़ रही थी। मालाड-पूर्व के तानाजी नगर शिवसेना शाखा के पास गश्त के दौरान घार्गे एवं उनके सहयोगियों ने मालाड-पूर्व स्थित कुरार विलेज इलाके में रहनेवाले चंदन विजय सिंह एवं विकी प्रेमचंद विश्वकर्मा को संदिग्ध परिस्थितियों में घूमते देखा। पुलिसिया पूछताछ में चंदन और विकी ने अपना गुनाह कबूल कर लिया। आरोपी चंदन सिंह के खिलाफ मुंबई के कुरार एवं चारकोप पुलिस थानों में पहले से ही मामले दर्ज थे। इसके अलावा गोवा राज्य में भी उसके खिलाफ मामले दर्ज हैं। हाल के दिनों में उसने अपने साथी विकी के साथ कुरार पुलिस थाने की हद में चोरी एवं सेंधमारी की तीन वारदातों को अंजाम दिया था। दोनों आरोपियों को स्थानीय न्यायालय में पेश किया गया, जहां उन्हें पुलिस हिरासत में रखने का आदेश मिला है।

वाहन चोर भी धराया 
आटोरिक्शा में घूमता था गिरोह
सेंधमारी एवं बंद घरों में चोरी करनेवाले दो चोरों के अलावा कुरार पुलिस ने एक वाहन चोर को भी गिरफ्तार किया है। सोहैब इमाम खान नामक ये चोर अपने साथियों के साथ ऑटो रिक्शा में घूमता था। तथा सड़क किनारे लावारिस अवस्था में खड़े दुपहिया वाहन चुराता था। पुलिस ने जब इस गिरोह को रुकने को कहा तो सोहैब के साथी तो भाग निकले लेकिन वह पुलिस के हत्थे चढ़ गया। सोहैब के वर्ष 2017 से चोरी कर रहा है। उसके खिलाफ पांच मामले पहले से ही दर्ज है, जबकि लॉकडाउन में उसने कुरार व दिंडोसी पुलिस थानों की हद में वाहन चोरी की दो-दो तथा पालघर जिले के वालीव पुलिस थाने की हद में एक वारदात को अंजाम दिया था।