" /> आओ भाग चलें मुलुक की ओर!… संपूर्ण लॉकडाउन के डर से प्रवासी मजदूर चले गांव

आओ भाग चलें मुलुक की ओर!… संपूर्ण लॉकडाउन के डर से प्रवासी मजदूर चले गांव

कोरोना का बढ़ता प्रकोप व रोज नए-नए नियमों के लागू किए जाने की जानकारी से अब संपूर्ण लॉकडाउन का भय मुंबई के प्रवासी मजदूरों को सताने लगा है। ऐसे में काफी संख्या में मजदूर मुलुक जाने के लिए निकल पड़े हैं, जबकि मुंबईकरों के साथ-साथ प्रदेश की जनता को सरकार पर पूर्ण विश्वास दिखाई दे रहा है।

कोरोना की दूसरी लहर आने से शासन-प्रशासन के साथ हर कोई सकते में आ गया है। इसके बावजूद जिस संयम व दृढ़ संकल्प के साथ महाविकास आघाड़ी सरकार कोरोना को मात देने के लिए हरसंभव प्रयास कर रही है, उससे मुंबईकरों का इस सरकार पर पूर्ण विश्वास है कि इस काम में सफलता जरूर मिलेगी! वहीं, यहां गत पांच-छह माह में पुन: लौटकर आए प्रवासी मजदूरों के मन में भय का माहौल है कि कहीं गत वर्ष की तरह कुछ हुआ तो हम पुन: गंभीर परिणाम भुगत सकते हैं, जिसके चलते वे अभी से मुलुक भागने की फिराक में हैं। लोकमान्य तिलक टर्मिनस के आस-पास अपने मूल गांव के लिए निकले कई प्रवासी मजदूरों व अन्य जनता का मूड देखने से तो कुछ वैसा ही लगता है। इस संबंध में जब यूपी के गोंडा जा रहे रामलखन मौर्या से बात की गई तो उसका कहना था कि गत वर्ष हम नासिक तक पैदल गए थे, उसके आगे ट्रक में बैठकर करीब ७ दिन की यात्रा कर गांव पहुंचे थे। कहीं पुन: वही माहौल न बन जाए इसलिए हम पहले ही गांव जाने के लिए निकल गए हैं। घाटकोपर (पूर्व) के एक कंस्ट्रक्शन कंपनी की साइड में काम करनेवाले अनूप शर्मा ने बताया कि अभी तो हमें साधन मिल जाएगा। अगर यही परिस्थिति रही और आगे चलकर संपूर्ण लॉकडाउन हो गया तो हम भुखमरी के कगार पर आ जाएंगे। इसके लिए कल ही सेठ से अपना हिसाब-किताब करवाकर गांव जा रहे हैं, जिससे कोई तकलीफ न हो। मध्य प्रदेश के इंदौर निवासी रामसूरत चौबे ने बताया कि मैं गत लॉकडाउन के समय करीब दस हजार रुपए खर्च कर इंदौर तक पहुंचा था। फिर वैसी तकलीफ न उठानी पड़े इसलिए किसी भी ट्रेन से भुसावल तक जा रहा हूं। उसके आगे की यात्रा बस व अन्य साधन से पूरा करूंगा। चेंबूर में तीन दशक से फेरी का धंधा करनेवाले वलीम खान ने कहा है कि हम तो यहीं के निवासी हो गए हैं इसलिए सरकार मुंबईकरों के लिए जो भी करेगी, अच्छा ही करेगी। हम सरकार के साथ थे और सरकार के साथ ही रहेंगे।

उत्तर हिंदुस्थान के लिए ज्यादा ट्रेनें
स्टेशनों पर बढ़ती भीड़ से उत्तर हिंदुस्थान की ओर जानेवाली ट्रेनों में टिकट नहीं मिल रही है। यात्रियों की भीड़ देखते हुए मध्य रेलवे द्वारा विशेष ट्रेनें चलाई जा रही हैं। इसके अलावा मौजूदा ट्रेनों की सर्विस बढ़ाई जा रही है।
मुंबई-मंडुवाडीह सुपरफास्ट विशेष ट्रेन क्रमांक ०११०९ एलटीटी, से १०.४.२०२१ और १७.४.२०२१ को ७.५० बजे रवाना होगी।
मुंबई-लखनऊ ट्रेन क्रमांक ०१११९ सुपरफास्ट विशेष एलटीटी से दिनांक ८.४.२०२१ को २३.४५ बजे रवाना होगी।
मुंबई-गुवाहाटी ट्रेन क्रमांक ०११२१ सीएसएमटी से ११.४.२०२१ और १८.४.२०२१ को ११.०५ बजे रवाना होगी।