" /> महाराष्ट्र में लॉकडाउन के उल्लंघन पर 46 हजार मामले दर्ज : 1 करोड़ 70 लाख की वसूली

महाराष्ट्र में लॉकडाउन के उल्लंघन पर 46 हजार मामले दर्ज : 1 करोड़ 70 लाख की वसूली

इन दिनों महाराष्ट्र कोरोना वायरस का हॉटस्पॉट बना हुआ है लेकिन राज्य के लोग इसकी गंभीरता को नहीं समझ रहे हैं। वे लॉक डाउन के नियमों को तोड़ रहे हैं और इसके ​बदले में उनके खिलाफ कार्रवाई करनी पड़ रही है। महाराष्ट्र पुलिस लॉक डाउन का उल्लंघन करनेवालों से अब तक जुर्माने के रूप में 1,70,79,544 रुपए की वसूली कर चुकी है।
25 दिनों में लॉक डाउन के नियम तोड़नेवालों के खिलाफ 46,671 मामले दर्ज किए गए हैं। ये मामले भारतीय दंड संहिता की धारा 188 के तहत दर्ज किए गए हैं, जो मुख्य रूप से ‘लोक सेवक के आदेश की अवज्ञा’ के लिए है। लॉक डाउन तोड़ने के कारण अब तक महाराष्ट्र में 9,155 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। वास्तव में 540 केस उन लोगों के खिलाफ दर्ज किए गए हैं, जिन्होंने क्वारंटाइन होने का वादा किया था लेकिन उसका उल्लंघन किया। राज्य में अलग-अलग घटनाओं में 97 पुलिसकर्मियों पर हमला करने के लिए पिछले दिनों में 162 लोगों को गिरफ्तार किया गया। यह तब है जब 23 पुलिस के जवान खुद कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं।
महाराष्ट्र के पुलिस महानिदेशक ने जारी किए गए आंकड़े को रिलीज करते हुए लोगों से अनुरोध किया है कि वे प्रशासन और पुलिस द्वारा लगाए गए प्रतिबंधों का उल्लंघन न करें। पुलिस महानिदेशक ने कहा, ‘नागरिकों से अनुरोध है कि लॉकडाउन लागू करने में पुलिस और प्रशासन की मदद करें। अगर किसी भी तरह से कानून का उल्लंघन किया गया तो ऐसा करनेवालों के खिलाफ कानून के अनुसार सख्ती से निपटा जाएगा, जिसमें अपराधियों की आशंका और कानून की निवारक धाराओं के तहत उचित कार्रवाई शामिल है।’
महाराष्ट्र में भी वीजा उल्लंघन के भी 15 मामले दर्ज किए गए हैं। फॉरेनर्स एक्ट के तहत दर्ज ये मामले ज्यादातर मुंबई और संभाजीनगर में हैं। इन दोनों जगहों पर तीन-तीन मामले दर्ज किए गए। अमरावती में 2 मामले हैं, जबकि पुणे, नागपुर, ठाणे, चंद्रपुर, गढ़चिरौली, नई मुंबई और नांदेड़ में 1-1 मामले हैं। वीजा उल्लंघन के इन 15 मामलों में 156 आरोपी हैं। पुलिस के आंकड़ों के अनुसार, पुलिस को हेल्पलाइन द्वारा से संबंधित कम से कम 69,462 कॉल रिसीव हुई हैं। राज्य में पुलिस द्वारा अवैध यात्रा संबंधी अब तक 1,019 मामले दर्ज किए गए हैं। महाराष्ट्र पुलिस ने कुल 31,296 वाहनों को जप्त किया।