" /> मास्क नहीं लगाने पर 2 हजार से अधिक नपे

मास्क नहीं लगाने पर 2 हजार से अधिक नपे

कोरोना का कहर सबसे अधिक मुंबई शहर में देखने को मिल रहा है। बीते कुछ दिनों से प्रतिदिन कोरोना संक्रमण के 500 से अधिक नए मामले सामने आ रहे हैं। ऐसे में प्रशासन ने लोगों की सुरक्षा को देखते हुए मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया था, ऐसा नहीं करने पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी। मुंबई पुलिस ने मास्क नहीं पहनने के लिए अभी तक 2,098 मामले दर्ज किए हैं।
लॉक डाउन को 25 मार्च से शुरू किया गया था। इसके बाद पुलिस और प्रशासन इसे पालन करवाने में जुट गए थे। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने संक्रमण से बचने के लिए मास्क पहनने की सलाह दी थी लेकिन इसके बावजूद कुछ लोग मास्क नहीं पहनना चाह रहे हैं। मुंबई की झोपड़पट्टियों में सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। कुर्ला इलाके में एक सिख व्यक्ति ने कुछ लोगों को मास्क पहनने की सलाह दी, इसी बात से नाराज होकर 4 व्यक्तियों ने उन पर हमला कर दिया। इस हमले में वे बुरी तरह घायल हो गए थे। अंटॉप हिल में पुलिस ने कुछ लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के लिए कहा लेकिन उन्होंने पुलिस पर ही हमला कर दिया। इस हमले में 3 पुलिसवाले घायल हो गए थे।
सार्वजनिक जगहों पर भीड़ इकट्ठा होने के 3,985 मामले
लॉक डाउन के बीच मुंबई में भीड़ इकट्ठा होने के भी मामले सामने आ रहे हैं। कुछ दिन पहले ही डोंगरी इलाके में 100 से अधिक लोगों पर मामला दर्ज किया गया था। ये सभी लोग एक जनाजे में शामिल होने आए थे। इसी तरह पुलिस ने सार्वजनिक भीड़ इकट्ठा होने के कुल 3,985 मामले दर्ज किए गए हैं। बिना इजाजत गैरजरूरी दुकान एवं पान टपरी खोलने के 311 मामले दर्ज किए हैं। लॉक डाउन से संबंधित पुलिस ने 12,354 मामले दर्ज किए हैं। अभी तक 7,352 आरोपियों को गिरफ्तार किया है और 3,303 लोगों को नोटिस देकर छोड़ा गया है, वहीं 1,699 आरोपियों की तलाश जारी है।