" /> 20 दिन में रेलवे ने बांटे 10 लाख फूड पैकेट

20 दिन में रेलवे ने बांटे 10 लाख फूड पैकेट

भारतीय रेलवे खानपान और पर्यटन निगम (आईआरसीटीसी) ने देश भर में कोविड-19 के कारण घोषित लॉकडाउन के दौरान गरीब और जरूरतमंद व्यक्तियों को भोजन उपलब्ध कराना लगातार जारी रखा है। रेलवे ने पिछले 20 दिन में 10 लाख गरीब व जरूरतमंद लोगों को खाने के पैकेट बांटे हैं।

बांटे गए भोजन के पैकेट में से अब तक आईआरसीटीसी द्वारा 6 लाख से अधिक भोजन पैकेट उपलब्ध कराए गए हैं और लगभग 2 लाख पके हुए भोजन के पैकेट आरपीएफ ने अपने संसाधनों से लोगों को प्रदान किया हैं। इनके अलावा, रेलवे संगठनों के साथ काम करनेवाले एनजीओ द्वारा पूरे हिंदुस्थान में लगभग 1.5 लाख से अधिक भोजन पैकेट गरीबों को दान किए गए हैं। 29 मार्च के बाद पिछले 20 दिनों में वितरित किए गए इन लगभग 10 लाख भोजन पैकेटों में से, आईआरसीटीसी के पश्चिम क्षेत्र ने मुंबई सेंट्रल, अहमदाबाद, पुणे, भुसावल और इटारसी में अपने 5 बेस किचनों के माध्यम से अधिकतम 2.77 लाख भोजन पैकेट वितरित किए हैं। गौरतलब है कि इन 2.77 लाख पैकेटों में, सबसे ज्यादा यानी 1 लाख से अधिक भोजन पैकेट आईआरसीटीसी के मुंबई सेंट्रल बेस किचन द्वारा तैयार और वितरित किए गए हैं। पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी रविंद्र भाकर ने बताया कि आईआरसीटीसी के समूह महाप्रबंधक राहुल हिमालयन ने कहा कि ‘यह पश्चिम क्षेत्र में आईआरसीटीसी टीम के दृढ़ संकल्प के अलावा और कुछ नहीं है, जो ज़रूरत के समय समाज की सेवा और अपने महत्त्वपूर्ण योगदान के लिए अथक प्रयास कर रही है।’ उन्होंने कहा कि आईआरसीटीसी ने देश में लॉकडाउन अवधि के विस्तार के फलस्वरूप किसी भी अप्रत्याशित परिस्थिति के लिए कमर कस ली है। उन्होंने कहा कि आईआरसीटीसी हमेशा हमारे साथी भारतीयों के साथ खड़ा है, जो इस दुर्भाग्यपूर्ण और अभूतपूर्व स्थिति में विजयी होने के लिए लगातार संघर्ष कर रहे हैं। आईआरसीटीसी ने मुंबई सेंट्रल में इसके बेस किचन द्वारा मुंबई में परेशान, गरीब और जरूरतमंद व्यक्तियों को भोजन उपलब्ध कराने के प्रयासों को निरंतर जारी रखा जा रहा है।