फिर एक बार एनडीए सरकार, रुझानों में एनडीए 349, यूपीए 93 अन्य 100

लोकसभा चुनाव के ऐलान के 74 दिन बाद आखिर जनादेश का दिन आ गया। आरोपों और आशंकाओं के बीच आज करीब 61 करोड़ मतदाताओं का निर्णय ईवीएम से बाहर आएगा। साथ ही, आठ हजार प्रत्याशियों की किस्मत का फैसला भी हो जाएगा। दूसरी ओर, मतगणना के दौरान हिंसा की आशंका के मद्देनजर केंद्रीय गृह मंत्रालय ने देशभर में अलर्ट जारी किया है। पोस्टल बैलेट और ईवीएम की गिनती साथ-साथ चल रही है। दिल्ली, महाराष्ट्र, गोवा, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड में राजग को बड़ी बढ़त।

दिग्गजों की प्रतिष्ठा दांव पर

वाराणसी से पीएम नरेंद्र मोदी आगे

अमेठी में राहुल गांधी पीछे

वायनाड से राहुल गांधी आगे

गांधीनगर से अमित शाह आगे

नागपुर से नितिन गडकरी आगे

रायबरेली सीट से सोनिया गांधी आगे

गुना से ज्योतिरआदित्य सिंधिया पीछे

लखनऊ से राजनाथ सिंह आगे

भोपाल से साध्वी प्रज्ञा सिंह आगे

आजमगढ़ से अखिलेश यादव आगे

बेगूसराय से गिरिराज सिंह आगे

गोरखपुर से रवि किशन आगे

सबसे बड़ा चुनाव

91 करोड़ मतदाताओं में से 61 करोड़ ने मताधिकार का प्रयोग किया
8,040 प्रत्याशी मैदान में
67.11 फीसदी मतदान हुआ, 67 साल के इतिहास में सबसे ज्यादा

इस बार अलग क्या

उम्मीद से बहुत अधिक डाकपत्र मिले हैं,इनकी भी गिनती ईवीएम संग होगी
हर विधानसभा क्षेत्र के पांच बूथों पर वीवीपैट पर्ची और ईवीएम के मतों का मिलान कराया जाएगा

क्यों होगी देरी

20,600 ईवीएम का वीवीपैट पर्चियों से मिलान होना है
01 ईवीएम का पर्चियों से मिलान में एक घंटे लगेंगे

यहां जल्द नतीजे संभव

लक्षद्वीप में मात्र 54,266 मतदाता हैं। वहां कोई विधानसभा भी नहीं है। इसलिए वहां जल्द नतीजे आने की उम्मीद है। इसी प्रकार अंडमान-निकोबार, लद्दाख, दमन-दीव, चंडीगढ़ सीट पर जल्द गणना पूरी हो सकती है।