" /> जब स्पेयर पार्ट्स की दुकानें नही खुलेंगी तो कैसे चलेगा पावरलूम?

जब स्पेयर पार्ट्स की दुकानें नही खुलेंगी तो कैसे चलेगा पावरलूम?

◼️ पावरलूम संबंधित सामानों की दुकानों को खोलने की परमिशन की मांग
◼️ कारखाना चालू करते ही खराब होने लगे पार्ट, सामान लाना हुआ सिरदर्द
राज्य सरकार ने पावरलूम उद्योग को शुरू करने इजाजत दे दी है लेकिन स्थानीय प्रशासन ने अभी तक पावरलूम उद्योग से संबंधित सामानों तथा पावरलूम स्पेयर पार्ट्स (मिल स्टोर) की दुकानों को शुरू करने का परमिशन नहीं दिया है। भिवंडी पावरलूम मालिकों ने मनपा प्रशासन तथा पुलिस विभाग के पावरलूम स्पेयर पार्ट्स संबंधित सभी दुकानों को निर्धारित समय तक खोलने की परमिशन देने की मांग की है।
गौरतलब हो कि बीते शुक्रवार की रात से पावरलूम उद्योग से जुड़े कारखानों को शुरू करने की इजाजत राज्य सरकार की तरफ से दे दी गई है। सरकार की इजाजत मिलने के बाद भिवंडी में ईद से पहले खुशी का माहौल व्याप्त है। सभी पावरलूम मालिक, मजदूर तथा शहर में रह रहे सभी नागरिकों के दिलों में उद्योग-धंधा, कारोबार शुरू होने की फिर से एक नई आशा की किरण जगी है। लगता है कि शासन ने बिना पूरी तैयारी किए ही पावरलूम उद्योग को शुरू करने की इजाजत दी है क्योंकि अभी तक पावरलूम उद्योग से संबंधित स्पेयर पार्ट्स यानी मिल स्टोर, सटल रिपेयरिंग, इलेक्ट्रिक की दुकानें, वायरमैन, सुतार, लेथ मशीन सहित अन्य स्पेयर पार्ट्स की दुकानों को खोलने की परमिशन नहीं दी गई है। कई पावरलूम कारखाना मालिकों ने बताया कि जब वह कारखाना चालू कर रहे थे तो मशीनों पर लगी बिजली की मोटरें जाम होने के कारण जल गईं। बिजली मोटर रिपेयरिंग की दुकान खुली न होने के कारण उन्हें वापस कारखाना बंद करना पड़ा इसलिए पावरलूम मालिकों ने  मनपा प्रशासन तथा पुलिस प्रशासन से मांग की है कि शासन व जिलाधिकारी पावरलूम उद्योग से संबंधित सभी दुकानों को निश्चित अवधि तक शुरू करने का त्वरित आदेश दें। वरना पावरलूम उद्योग शुरू करने का कोई मतलब ही नहीं होगा और न ही पावरलूम कारखाना चालू हो पाएगा। पावरलूम कारखाना मालिक अख्तर अंसारी, कांग्रेस महासचिव फूलचंद यादव श्रीराज सिंह, जाहिद मुख्तार शेख, द्वारिका प्रसाद आसावा, हबीब अंसारी ,फजले खान विशाल सिंह, मुस्लिम शेख आदि ने कहा है कि बिना पावरलूम स्पेयर पार्ट्स और पार्ट्स रिपेयरिंग से संबंधित दुकानों को खोलने की परमिशन न देना “बिना डोर की पतंग जैसा होगा ” क्योंकि पावरलूम कारखाने 2 महीने से बंद पड़े हैं, जिन्हें चालू करने के लिए कारखाना मालिकों को मजदूर के अलावा सबसे पहले इलेक्ट्रिकल्स सामान, स्पेयर पार्ट्स और सटल रिपेयर की दुकानों की जरूरत होगी। पावरलूम के टूटे-फूटे या बिगड़े हुए सामानों की मरम्मत के लिए आवश्यक दुकानों के साथ स्पेयर पार्ट्स यानी मिल स्टोर की दुकानों का खुला रहना आवश्यक है, ताकि जरूरी स्पेयर पार्ट्स खरीदकर लोग मशीनों को  सुचारु रूप से चालू कर सकें।