न्यूजीलैंड की मस्जिद में नरसंहार, -‘पार्टी शुरू’ बोलकर लाशें बिछाने लगा हमलावर, -४9 लोगों ने तोड़ा दम

न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च शहर की २ मस्जिदों में अंधाधुंध फायरिंग कर नरसंहार करनेवाले दरिंदों में से मुख्य हमलावर की पहचान २८ वर्षीय ब्रेंटन टैरंट के रूप में हुई है। इस हमले में कम से कम ४९ लोगों की मौत हुई है। मुख्य हमलावर ने हमले की फेसबुक पर लाइवस्ट्रीमिंग की थी। वीडियो की शुरुआत में वह ‘चलो, पार्टी शुरू करते हैं’ कहते हुए लाशें बिछाने लगे। कुल ४ लोगों को गिरफ्तार किया गया है, जिसमें १ महिला भी शामिल है। इतना ही नहीं टैरंट ने गुरुवार रात को ही फेसबुक पर पोस्ट के जरिए अपनी मंशा जाहिर कर दी थी और लिखा था कि वह ‘आक्रमणकारियों’ पर हमला करेगा और उसे फेसबुक पर लाइव दिखाएगा।

दरिंदे टैरंट ने इस दिल दहला देनेवाली करतूत को १७ मिनट तक फेसबुक पर लाइव किया। वह कार को चालू करते वक्त कहता है कि चलो, इस पार्टी को अब शुरू करते हैं। इसके बाद वह सेंट्रल क्राइस्टचर्च के अल नूर मस्जिद की तरफ बढ़ना शुरू कर देता है। कार में उसने कई हथियार भी जमा कर रखे थे, जिसे फेसबुक लाइव के दौरान भी दिखाया था। एक जगह वह कार से उतरता है और जमीन में ताबड़तोड़ गोलियां दागता है। बैकग्राउंड में सर्बियन म्यूजिक बज रहा था और वह सैटलाइट नैविगेशन के जरिए गाड़ी मोड़ रहा था जो उसे यह बताता था कि कब किस ओर मुड़ना है। २८ साल का मुख्य हमलावर ब्रेंटन टैरंट ऑस्ट्रेलिया में पैदा हुआ था। उसने अपनी मंशा का एलान करते हुए ३७ पेजों का एक मैनिफेस्टो भी लिखा है, जिसका शीर्षक है- ‘द ग्रेट रिप्लेसमेंट’ यानी महान बदलाव। इसे एक मेसेज बोर्ड वेबसाइट पर पोस्ट किया गया था। अब तक उसके बारे में जो भी जानकारियां सामने आई हैं, वह उसकी फेसबुक प्रोफाइल पर दिए गए परिचय और मैनिफेस्टो पर आधारित हैं। ब्रेंटन टैरंट ने खुद का परिचय ‘२८ साल का एक साधारण श्वेत शख्स’ के तौर पर बताया है, जिसका जन्म ऑस्ट्रेलिया में एक निम्न आय वाले परिवार में हुआ था। ‘हमला क्यों किया’ इस शीर्षक के तहत उसने लिखा है कि यह ‘विदेशी आक्रमणकारियों द्वारा हजारों लोगों की मौत’ का बदला लेने के लिए है।