" /> मजदूर महाराज!, अनलॉक-१ के बाद चार्टर विमान से कंपनियां बुला रही हैं वापस

मजदूर महाराज!, अनलॉक-१ के बाद चार्टर विमान से कंपनियां बुला रही हैं वापस

कोरोना वायरस की वजह से देश में लॉकडाउन लागू होने के बाद लाखों मजदूर अपने गांव वापस चले गए थे। इनमें से काफी मजदूर काफी खराब स्थिति में अपने घर गए थे। टीवी चैनलों पर पैदल चलते मजदूर और उनके दुख तकलीफ को पूरे देश ने देखा था। लेकिन अब हालात बदल गए हैं। अब कंपनियां कई कुशल मजदूरों को वापस बुला रही हैं, वह भी किसी महाराजा जैसी शानो-शौकत के साथ। अब ये मजदूर पैदल और ट्रेन से वापस नहीं आ रहे बल्कि चार्टर्ड विमान से बुलाए जा रहे हैं।

गौरतलब है कि लॉकडाउन के बाद मैन्युफैक्चरिंग कंपनियों को कुशल और अकुशल दोनों तरह के श्रमिकों की भारी कमी से गुजरना पड़ रहा है। ऐसे में उनके लिए मजदूरों को किसी भी तरह से वापस लाना जरूरी है। एक रिपोर्ट के अनुसार, ‘पिछले एक महीने में मैन्युफैक्चरिंग, इंडस्ट्रियल गुड्स, रियल एस्टेट, हॉस्पिटैलिटी जैसे सेक्टर की कंपनियां ७०० से ज्यादा घरेलू उड़ानों के द्वारा मजदूरों को उनके घर से वापस कार्यस्थल पर लेकर आईं।

कोरोना की वजह से देश में लॉकडाउन लागू होने के बाद लाखों मजदूर अपने गांव-घर वापस चले गए थे, लेकिन अब जब अनलॉक-१ आ गया है और इकोनॉमी का बड़ा हिस्सा खुल गया है तो इन्हें वापस बुलाया जा रहा है। हाल यह है कि कंपनियां चार्टर्ड फ्लाइट से मजदूरों को वापस कारखानों में ले जा रही हैं।

सार्वजनिक कंपनी ओएनजीसी लिमिटेड और दिग्गज इन्प्रâा कंपनी लार्सन ऐंड टूब्रो ने पटना और भुवनेश्वर से मुंबई और अमदाबाद के लिए चार्टर्ड फ्लाइट संचालित कर मजदूरों को वापस बुलाए। रिपोर्ट के अनुसार कुछ कंपनियों और एयरलाइंस के एग्जिक्यूटिव्स ने बताया कि चेन्नई और राजमुंदरी जैसे इं​डस्ट्रियल हब तक भी कर्मचारियों को पहुंचाने के लिए कई चार्टर्ड फ्लाइट गए हैं। असल में लॉकडाउन में बड़े पैमाने पर मजदूरों की घर वापसी को लेकर इंडस्ट्री के लोग काफी ​परेशान थे। सैलरी न मिलने या नौकरी चले जाने से परेशान कितने मजदूर इस कदर परेशान हुए कि वे पैदल ही पांच सौ-हजार किलोमीटर तक अपने घर को निकल पड़े थे। इसलिए खासकर मैन्युफैक्चरिंग कंपनियों को यह डर हो गया कि आगे चलकर उन्हें कुशल और अकुशल मजदूरों की भारी तंगी से गुजरना पड़ सकता है। स्पाइसजेट के एक अधिकारी ने बताया, ‘हमने कंपनियों की तरफ से कई चार्टर्ड फ्लाइट संचालित किए हैं, जिनसे उनके कर्मचारियों को देश के भीतर और देश के बाहर भी विभिन्न कार्यस्थलों तक पहुंचाया गया है। एक बड़ी कंपनी तो लगातार हमारी एयरक्राफ्ट बुक कर अपने कर्मचारियों को पहुंचा रही है।’ एयर इंडिया के एक अधिकारी के मुताबिक सरकारी कंपनी ओएनजीसी ने चार्टर्ड विमानों से करीब ५,००० कर्मचारियों को अपने विभिन्न केंद्रों तक पहुंचाया है। इनमें बिहार, झारखंड, पूर्वी उत्तर प्रदेश के कर्मचारी शामिल हैं।