मनपा स्कूलों में रोबोट गुरु! न डांट, न पिटाई, स्कूल में बस पढ़ाई

हर शरारती बच्चे को स्कूल में होमवर्क न करने पर टीचर की डांट और पिटाई का डर लगता है। इस डर से अधिकांश बच्चे स्कूल जाने से कतराते हैं, पर अब मनपा के कई स्कूलों के बच्चे डरते-डरते नहीं, बल्कि बड़े शौक और उत्साह के साथ स्कूल जाते हैं। इन स्कूलों में मेनेम्वीन (पुतला) के अंदर एलेक्सा को फिट किया गया है। बच्चे अपनी जिज्ञासा से एलेक्सा से अंग्रेजी में सवाल करते हैं और अपनी अंग्रेजी सुधारते हैं।
बता दें कि मनपा के बांद्रा-पूर्व स्थित रामकृष्ण परमहंस मार्ग स्कूल की टीचर पूजा संखे को एक दिन तरकीब सूझी और उन्होंने एमेजोन से २,२०० रुपए में एलेक्सा का इको डॉट वर्जन खरीदकर उसे एक पुतले में फिट कर दिया। पुतले को बोलता देख बच्चे बड़े खुश हुए और उससे रोजाना नए-नए सवाल पूछने लगे। मुंबई ही नहीं नागपुर से १७० किमी दूर स्थित वारूद के अमरावती म्यूनिसिपल मराठी स्कूल में भी वहां के टीचर्स ने पुतले में एलेक्सा को फिट करके बच्चों को शिक्षित करना शुरू किया है। शरारती बच्चे बोलती हुई एलेक्सा को देखकर काजल और लिपस्टिक से सजाते हैं और उससे अंग्रेजी में अपने सारे सवालों का उत्तर जानते हैं। इस तरह अंग्रेजी में एलेक्सा से बात करने पर बच्चों की अंग्रेजी में काफी सुधार आया है। यही नहीं तमिलनाडु के दो स्कूल में भी एलेक्सा को पुतले में फिट कर उसे ‘तारा’ नाम दिया गया है। वहां भी बच्चे इसी तरह अपने सारे सवाल ‘तारा’ से पूछकर उनका जवाब जानते हैं।
क्या है एलेक्सा
एलेक्सा एक ऐसा उपकरण है, जो महिला की आवाज में आपसे सामान्य बातचीत कर सकता है। इस उपकरण के द्वारा हम अंग्रेजी में बोलकर हमारा मनपसंद गाना बजवा सकते हैं। इसके अलावा मौसम, दिनांक, समाचार के बारे में बातचीत कर जानकारी हासिल कर सकते हैं।