" /> मेडिकल का प्रादेशिक आरक्षण रद्द!, अब ‘वन महाराष्ट्र, वन मेरिट’ से प्रवेश

मेडिकल का प्रादेशिक आरक्षण रद्द!, अब ‘वन महाराष्ट्र, वन मेरिट’ से प्रवेश

राज्य की महाविकास आघाड़ी सरकार ने मेडिकल में प्रवेश के लिए बहुत बड़ा निर्णय लिया है। राज्य में मेडिकल प्रवेश के लिए ७०:३० प्रादेशिक कोटा प्रणाली को रद्द करने की घोषणा कल विधानसभा में मेडिकल शिक्षा मंत्री अमित देशमुख ने की। इसके साथ ही देशमुख ने ‘वन महाराष्ट्र, वन मेरिट’ के तहत मेडिकल में प्रवेश प्रक्रिया की घोषणा सदन में की।
राज्य में ७०:३० प्रादेशिक कोटा प्रणाली के कारण, मेधावी छात्र मेडिकल में प्रवेश पाने से वंचित रह जाते हैं इसलिए राज्य सरकार प्रादेशिक कोटा प्रणाली को समाप्त कर रही है। इससे आगे ‘वन महाराष्ट्र, वन मेरिट’ के तहत प्रवेश दिया जाएगा, ऐसी जानकारी अमित देशमुख ने दी। सरकार के उक्त निर्णय से विशेष रूप से मराठवाड़ा, विदर्भ और शेष महाराष्ट्र के विद्यार्थियों को अधिक लाभ होगा। इन तीनों प्रादेशिक विभागों में महाविद्यालयों की संख्या और वैकल्पिक प्रवेश के लिए उपलब्ध सीटों की संख्या में भिन्नता होती थी। इसलिए मराठवाड़ा जैसे प्रादेशिक विभाग में जहां महाविद्यालयों की संख्या कम है, वहां के विद्यार्थियों को ७० फीसदी प्रादेशिक सीटों में कम जगह उपलब्ध होती थी। इस वजह से उच्च गुणवत्ता होते हुए भी वहां के उम्मीदवारों को उनकी पसंद के महाविद्यालय में प्रवेश नहीं मिल पाता था, वहीं कुछ विद्यार्थियों को एडमिशन से वंचित भी होना पड़ता था इसलिए ७०:३० कोटा प्रणाली रद्द किए जाने की बारंबार मांग हो रही थी।