मेट्रो की सुरंग ने सोख लिया फोर्ट का पानी

पारसी समाज के हिस्से का पानी पीनेवाली मेट्रो-३ की सुरंग ने अब दक्षिण मुंबई के फोर्ट इलाके का भी पानी सोख लिया है। फोर्ट परिसर में स्थित सरकारी कार्यालयों में पानी सप्लाई करनेवाला कुआं पूरी तरह से सूख गया है। कुएं की सूखने की वजह यहां चल रहे मेट्रो-३ परियोजना की सुरंग खुदाई बताई जा रही है। इस खुदाई का असर जलीय चट्टान पर्त पर पड़ रहा है, इसकी वजह से कुएं में पानी का जलस्तर शून्य हो गया है। इसके चलते ६० वर्षों में पहली बार पानी कमी की मार सरकारी कर्मचारियों को झेलनी पड़ रही है।
बता दें कि फोर्ट परिसर स्थित हजारीमल सोमानी मार्ग पर मोटर हादसा दावा प्राधिकरण, मानवाधिकार आयोग, युवक बिरादरी स्पोर्ट्स कॉप्लेक्स, उपभोक्ता विवाद निवारण आयोग और सार्वजनिक निर्माण विभाग के गेस्ट हाउस है। ये सभी कार्यालय एक-दूसरे से जुड़े हुए हैं। इन्हीं कार्यालयों के परिसर में वर्षों पुराना कुआं है। इस कुएं का पानी पीने को छोड़कर अन्य कार्यों के लिए सप्लाई होता था। मेट्रो-३ की सुरंग की खुदाई से कुआं पूरी तरह से सूख गया है। इस कुएं की देखभाल मोटर हादसा दावा प्राधिकरण और सार्वजनिक निर्माण विभाग करता है। कुएं में जलस्तर शून्य होने की वजह से पिछले एक महीने से कर्मचारियों और वहां आनेवाले लोगों को पानी कमी की मार झेलनी पड़ रही है। बताया जाता है कि बीते दिनों मोटर हादसा दावा प्राधिकरण ने कुएं में पानी रिजर्व करने के उद्देश्य से टैंकर से कुएं में पानी डाला था लेकिन एक ही दिन में यह पानी कुएं से छू मंतर हो गया। गौरतलब हो कि बीते माह पारसी समाज ने भी कुएं सूखने की शिकायत मेट्रो रेल कॉरपोरेशन से की थी। करीम मंजिल, सिंगापुरी सुखाड़वाला बिल्डिंग के परिसर के कुएं के अलावा पारसी टेंपल के भी कुएं सुरंग की खुदाई से सूखने लगे थे। हालांकि उस समय मेट्रो रेल कॉरपोरेशन ने सारा ठीकरा मौसम पर फोड़ा था, इस बार भी यही राग मेट्रो रेल कॉपोरेशन गा रही है।