" /> स्पेशल ट्रेन से मुंबई पहुंचे यात्री : 14 दिन के लिए हुए होम क्वारंटाइन

स्पेशल ट्रेन से मुंबई पहुंचे यात्री : 14 दिन के लिए हुए होम क्वारंटाइन

नई दिल्ली से कल पहली स्पेशल ट्रेन मुंबई सेंट्रल स्टेशन (मुंबई) पहुंची। इस ट्रेन में 1200 से अधिक रेल यात्रियों ने सफर किया। लॉक डाउन के बीच 52 दिन दिल्ली में फंसे यात्री जब स्पेशल ट्रेन से मुंबई पहुंचे तो कई यात्रियों के आंखों में आंसू दिखे। इस दौरान यात्रियों ने राहत की सांस ली। स्पेशल ट्रेन से पहुंचे जिन यात्रियों के पास घर पहुंचने का साधन नहीं था ऐसे यात्रियों के लिए बेस्ट और एसटी के बसों की मुफ्त व्यवस्था स्टेशन से घर पहुंचने के लिए की गई थी। मुंबई पहुंचे अधिकतर यात्री वह थे, जो लॉक डाउन से पहले अपने बिजनेस के सिलसिले में दिल्ली गए थे और वहां फंस गए थे।

सभी यात्री होम क्वारंटाइन
नई दिल्ली से मुंबई सेंट्रल स्टेशन पहुंचे सभी यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग की गई।जरूरी मेडिकल जांच की प्रक्रिया पूरी करने के बाद एक-एक कार सभी यात्रियों के हांथों पर होम क्वारंटाइन का स्टैंप मारकर 14 दिन घर में रहने की सलाह दी गई। बिजनेस के सिलसिले में दिल्ली गए अभिजीत टंडन ने बताया कि वह मुंबई के गोरेगांव में रहते हैं। बिजनेस के सिलसिले में अकेले दिल्ली गए थे। लॉक डाउन के कारण दिल्ली में उन्होंने पूरा समय होटल में बिताया। उन्होंने बताया कि सफर के दौरान रेलवे ने अच्छी व्यवस्था की थी। ट्रेन में खाने-पीने की व्यवस्था पैसे देकर मिली थी।

गए थे शादी में बुरे फंसे
मुंबई स्पेशल ट्रेन से पहुंचे 52 वर्षीय साजिद अली खान ने बताया कि वह नई मुंबई में रहते हैं। उन्होंने बताया कि उसके हाथ को लकवा मारा है। वह फरुखाबाद शादी में अपनी पत्नी के साथ गए थे लेकिन लॉक डाउन के कारण बुरे फंस गए थे। उनके पास चार लगेज था। स्टेशन पर पहुंचे तो लगेज के लिए कुली नहीं दिखा। इससे वे काफी परेशान हुए। उन्होंने बताया कि दिल्ली में कुली की व्यवस्था थी लेकिन मुंबई में उन्हें एक भी कुली नहीं दिखा, जो सामान उनकी गाड़ी तक पहुंचा सके।

मां की तबियत खराब
स्पेशल ट्रेन से मुंबई पहुंची आदिति तिवारी ने बताया कि उन्होंने स्पेशल ट्रेन में बड़ोदा से सफर किया। उन्होंने बताया कि उनकी मां की तबियत बहुत खराब थी। मुंबई आना बहुत जरूरी था, जैसे ही मुंबई आने का मौका मिला, उन्होंने स्पेशल ट्रेन की बुकिंग अपने भाई की मदद से करवा ली थी।

रामपुर से मुंबई वाया दिल्ली
इस ट्रेन में सफर करने वाले 81 वर्षीय रईस अहमद ने बताया कि वह उत्तर प्रदेश के रामपुर स्थित अपने गांव घूमने गए थे। उन्होंने बताया कि रामपुर से नई दिल्ली सड़क के रास्ते सफर किया उनके बाद मुंबई आने के लिए नई दिल्ली स्टेशन से सफर किया। उनके साथ उनकी पत्नी भी सफर कर रही थी। परिवार पूरा मुंबई में है। लॉक डाउन के कारण फंस गए थे

जा रहे थे श्रीलंका लॉक डाउन में लॉक
65 वर्षीय अनिल सिंह ने बताया कि वह घूमने के लिए श्रीलंका अपनी पत्नी की साथ जा रहे थे। एक प्राइवेट टूर कंपनी के जरिए उन्होंने श्रीलंका की बुकिंग की थी। दिल्ली से उनकी फ्लाइट थी, जिस दिन उन्हें दिल्ली से श्रीलंका के लिए उड़ान भरनी थी, उसके अगले दिन ही देश मे लॉक डाउन लग गया। लॉक डाउन का दर्द उनके चहेरे पर साफ दिखाई दे रहा था। अनिल सिंह ने बताया कि लॉक डाउन के कारण वह दिल्ली में हाउस अरेस्ट हो गए थे।एक दिन भी वह अपने होटल से बाहर नही निकले थे।

पीपीई किट में सफर
स्पेशल ट्रेन से मुंबई पहुंचा एक यात्री ऐसा था, जिसके दिलोदिमाग पर कोरोना महामारी का खौफ साफ दिखाई दे रहा था। 36 वर्षीय अर्णव सक्सेना गुड़गांव में रहते हैं। गुड़गांव से दिल्ली का सफर तय कर पहले वो नई दिल्ली पहुंचे उसके बाद मुंबई स्पेशल ट्रेन से आए। उन्होंने सफर के दौरान पीपीई किट पहन रखी थी। ताकि सफर के दौरान किसी यात्री के संपर्क में आने से वो संक्रमित न हो जाए।