" /> गोरखपुर जाने के लिए भिवंडी रेलवे स्टेशन पर उमड़ा जनसैलाब

गोरखपुर जाने के लिए भिवंडी रेलवे स्टेशन पर उमड़ा जनसैलाब

लगभग 5 हजार मजदूर पहुंचे स्टेशन
हजारों मजदूर की लगी निराशा
भिवंडी रोड रेलवे स्टेशन से गोरखपुर जिला के मजदूरों को ले जाने के लिए एक विशेष ट्रेन की व्यवस्था की गई है। सुबह उक्त खबर वायरल होते ही मजदूरों का रेला अंजुर फाटा स्थित रेलवे स्टेशन की तरफ दौड़ पड़ा और देखते ही देखते महावीर शॉपिंग कांप्लेक्स के पास करीब 4 से 5 हजार लोगों की भीड़ सामान के साथ कतार बद्ध होकर बैठ गई, जिसके बाद सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने में पुलिसकर्मियों के पसीने छूट गए।
शीर्ष अधिकारियों ने रेलवे स्टेशन का लिया जायजा
स्टेशन पर एडीआरएम, जिलाधिकारी, डीसीपी, मनपा आयुक्त, आरपीएफ कमिश्नर, ने भिवंडी रोड रेल स्टेशन का करीब 11 बजे दौरा कर स्थिति का जायजा लिया और भिवंडी रोड रेल अधीक्षक सहित आरपीएफ वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक एचबी कुमार को उचित निर्देश दिया।
दिन भर लगी रही पुलिस थानों में कतार
भिवंडी के सभी छह पुलिस थानों द्वारा निर्धारित जगहों पर रजिस्ट्रेशन कराने के लिए सुबह से मजदूरों का जमघट शुरू हो गया। गोरखपुर ट्रेन जानी थी लेकिन हर क्षेत्र के मजदूर रजिस्ट्रेशन कराने के लिए दिए गए एरिया में जमा होने लगे। देखते ही देखते हर पुलिस स्टेशन इलाके के रजिस्ट्रेशन स्थल पर हजारों मजदूरों की कई किमी लंबी लाइन लग गई।सुबह से ही गोरखपुर जाने वाले हजारों मजदूर आधार कार्ड लेकर फार्म भरकर पुलिस स्टेशनों के रजिस्ट्रेशन स्थल जमा करते हुए देखे गए, जिसके बाद हर पुलिस स्टेशन में फार्म भरने वाले मजदूरों को एस टी बस द्वारा जांच कर उन्हें भिवंडी रेलवे स्टेशन पहुचाया गया।
खाद्य सामग्री के साथ मॉस्क, सैनेटाइज व पानी भी दिया गया
रेलवे प्रशासन की तरफ से हर मजदूर से गोरखपुर तक 800 रुपया किराया लिया गया, जिन मजदूरों के पास किराए का पैसा नही था। उन्हें पुलिस प्रशासन ने पैसा का व्यवस्था करके टिकट दिलाया। तत्पश्चात उन्हें रास्ते मे लगनेवाले खाने की टिपिन के साथ बिस्किट, पानी, मॉस्क व सेनेटाइजर भी दिया गया। ताकि सोशल डिस्टेंसिंग के साथ सरकारी गाइड लाइन का कही उल्लंघन न हो। साथ ही ट्रेन में जानेवाले मजदूरों को किसी प्रकार की कोई तकलीफ न उठानी पड़े।पुलिस ने मनपा प्रशासन की मदद से पहले यात्रियों का जांच किराई तत्पश्चात कतारबद्ध करवा कर व्यवस्थित उन्हें ट्रेन में बैठाया। ताकि उन्हें ट्रेन में बैठने के लिए दिक्कत न उठानी पड़े। इतना ही नहीं सभी पुलिस स्टेशन के लोगों ने अपने-अपने इलाके के मजदूरों से सोशल डिस्टेंसिंग, मुंह पर मास्क लगाने का आह्वान भी किया।
1200 मजदूरों को लेकर ट्रेन होगी रवाना
भिवंडी के डीसीपी राजकुमार शिंदे ने बताया कि गोरखपुर जानेवाली यह ट्रेन 24 कोच की है। उन्होंने बताया कि थर्मल स्क्रीनिंग किए जाने के उपरांत मजदूरों को ट्रेन में बैठाया गया। यह स्पेशल ट्रेन रात को 12 बजे के दौरान भिवंडी रोड रेल स्टेशन से गोरखपुर रवाना होगी, जिसमें 1200 मजदूरों को बैठाया गया। उन्होंने बताया कि ट्रेन में सोशल डिस्टेंसिंग को ध्यान में रख कर एक कोच में 54-54 लोगों को बैठाया गया है। भिवंडी पुलिस उपायुक्त राजकुमार शिंदे ने जानकारी देते हुए बताया कि भिवंडी से उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जानेवाली विशेष ट्रेन में भोईवाडा पुलिस स्टेशन के 211, भिवंडी शहर पुलिस 395, शांतिनगर पुलिस 067, नारपोली पुलिस 422 व कोनगाव पुलिस के 105, इस तरह से कुल 1200 प्रवासी सवार हुए हैं। इस दौरान रेलवे के शीर्ष अधिकारी मीडिया कर्मियों के सवालों का जवाब देने से बचते रहे और यह कह कर पल्ला झाड़ते रहे कि निर्णय शासन का है हम तो सिर्फ आदेशों का पालन कर रहे हैं।