मॉल से मिलेगी मनी! एमएमआरडीए कर रही सर्वे

वडाला-घाटकोपर-ठाणे कासारवडवली मेट्रो-४ कॉरिडोर का प्रवेश द्वार इस रूट पर आनेवाले मॉल के पास बनाने की योजना एमएमआरडीए की है। मेट्रो के यात्री सीधे मॉल में जाकर मॉलवालों का व्यापार बढ़ाएंगे जिससे उनकी कमाई बढ़ सकती है ऐसे में क्या मॉल व्यवस्थापन एमएमआरडीए को मनी (पैसा) देगी? इसका सर्वे इन दिनों एमएमआरडीए के अधिकारी करने में लगे हैं।
मुंबई महानगर क्षेत्र विकास प्राधिकरण की योजना है कि मेट्रो-४ के मार्ग पर जहां-जहां मॉल है वहां पर मेट्रो का प्रवेश द्वार बनाया जाए। एमएमआरडीए को उम्मीद है कि ऐसा होने से मॉल में आनेवाले ग्राहकों की संख्या बढ़ेगी। ये सभी मॉल एलबीएस रोड पर हैं। इस मार्ग पर ट्रैफिक जाम होने के साथ ही मॉल से रेलवे स्टेशन अधिक दूरी पर है। लोगों को रिक्शा या टैक्सी से मॉल तक जाना पड़ता है। ऐसे में मेट्रो से मॉल तक पहुंचना आसान होगा। मेट्रो का प्रवेश द्वारा मॉल के सामने चाहिए तो इसके बदले मॉल्स के व्यवस्थापनों को कुछ निधि एमएमआरडीए को देनी होगी, ये प्रस्ताव प्रशासन ने रखा है। इस प्रस्ताव पर अमल होते ही संबंधित मॉल्स के व्यवस्थापन करनेवालों से संपर्क एमएमआरडीए साधेगी। मेट्रो-४ कॉरिडोर मुंबई से ‘ाणे को जोड़ेगा। ये मार्ग मुंबई से ‘ाणे तक अत्यंत भीड़-भाड़वाले एलएसबी रोड से होकर गुजरेगा। इस मार्ग की ट्रैफिक समस्या को दूर करने में मेट्रो अहम भूमिका निभाएगी। इस मार्ग पर १७ स्टेशन मुंबई तो १३ स्टेशन आएंगे। आर मॉल, विवियाना मॉल, कोरम मॉल है जबकि आर मॉल व निर्मल लाइफ स्टाइल मॉल भांडुप, आरसिटी-घाटकोपर जैसे मॉल मुंबई की हद में आते हैं।