" /> पैसा निकालने नहीं जाना होगा बाहर : एटीएम खुद आएगा आपके द्वार

पैसा निकालने नहीं जाना होगा बाहर : एटीएम खुद आएगा आपके द्वार

बैंकों ने शुरू की मोबाइल एटीएम

कोरोना वायरस की वजह से देशभर में लागू लॉक डाउन के चलते लोगों को कई तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। पैसा निकालने के लिए एटीएम तक जाना भी इस दौरान काफी मुश्किल हो गया है। ऐसे में कई बैंकों ने चलता-फिरता एटीएम शुरू किया है। यह मोबाइल एटीएम खुद लाेगाें तक पहुंचकर उन्हें नकदी निकासी की सुविधा देगा।
बता दें कि कोरोना वायरस की महामारी को रोकने के लिए पूरे देश में लॉक डाउन 3 मई तक किया गया है। लॉक डाउन के दौरान लोगों को जरूरत की चीजों के लिए कोई परेशानी न हो इस पर सरकार ने भी विशेष रूप से ध्यान दिया है। इसी कड़ी में अब बैंकों ने भी कदम बढ़ाया है। लॉक डाउन में पैसों के लिए बाहर न घूमना पड़े इसलिए बैंकों ने मोबाइल एटीएम की सुविधा शुरू की है। कोटक महिंद्रा बैंक ने एटीएम ऑन व्हील्स शुरू किया है। सामान्य एटीएम की ही तरह कोटक का यह एटीएम ऑन व्हील्स भी प्रमुख बैंकिंग सेवाएं देगा। जैसे नकद निकासी, खाता संबंधी जानकारी जैसे खाता शेष व मिनी स्टेटमेंट आदि की सुविधाएं उपलब्ध रहेंगी। यह मोबाइल एटीएम सुविधा सभी लोगाें के लिए उपलब्ध रहेगी, चाहे वे किसी भी अन्य बैंक के ग्राहक हों। यह सुविधा सप्ताह के सातों दिन मुबई, ठाणे और नई मुंबई में उपलब्ध रहेगी। मोबाइल एटीएम सेंट्रल डाटाबेस से कनेक्टड है और ग्लाेबल सिस्टम फाॅर मोबाइल कम्यूनिकेशंस (जीएसएम) टेक्नोलाॅजी का इस्तेमाल करता है। कोटक की तरह ही फेडरल बैंक ने भी मुंबई और चेन्नई में मोबाइल एटीएम की शुरुआत की है। मुंबई में बैंक के जोनल प्रमुख दीपक गोविंद पीए ने मोबाइल एटीएम को हरी झंडी दिखाई। बैंक ऑफ बरोड़ा और एचडीएफसी बैंक ने भी मुश्किल के इस दौर में मोबाइल एटीएम की शुरुआत की है। इस एटीएम में सुरक्षा उपायों पर अमल किया गया है। स्टाफ और ग्राहकों का मास्क पहनना, एटीएम के इस्तेमाल से पहले हर उपभोक्ता को हैंड सैनिटाइज़र देना, नियमित अंतराल पर एटीएम का सैनिटाइज़ेशन और कतार में कड़ाई से सोशल डिस्टंसिंग का पालन करना अनिवार्य होगा।