" /> तो गुस्सा भी देख लो!

तो गुस्सा भी देख लो!

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान एमएस धोनी कैप्टन कूल नाम से मशहूर हैं और अभी तक दुनिया के किसी भी फैन ने धोनी को मैदान पर गुस्सा करते नहीं देखा। धोनी हमेशा शांत होकर खेलते हैं। इतना शांत की जीतने के बाद धोनी के चेहरे से ये अंदाजा नहीं लगाया जा सकता कि वो खुश हैं या शांत। ऐसे में उन्हीं के साथी खिलाड़ी और टीम इंडिया के पूर्व स्पिनर कुलदीप यादव ने धोनी के गुस्से को लेकर कुछ खुलासे किए हैं। कुलदीप यादव ने कहा कि धोनी को पिछले 20 सालों से गुस्सा नहीं आया है। कुलदीप ने एक इंस्टाग्राम वीडियो शो में 2017 में इंदौर में श्रीलंका के खिलाफ खेले गए टी-20 मैच का एक उदाहरण दिया। स्पिनर ने कहा, ‘कुशल परेरा ने कवर्स के ऊपर से बाउंड्री मार दी थी धोनी भाई ने मुझसे चिल्लाकर फील्डिंग बदलने को कहा। मैंने उनकी सलाह नहीं मानी। अगली गेंद पर कुशल ने एक रिवर्स स्वीप खेल बाउंड्री लगा दी।’ कुलदीप ने कहा, ‘अब गुस्से से भरे धोनी मेरे पास आए और कहा.. मैं पागल हूं, 300 वनडे खेले हैं इंडिया के लिए और समझा रहा हूं यहां पर।’ कुलदीप ने कहा कि मैच के बाद जब उन्होंने धोनी से पूछा कि क्यों वो आक्रोशित थे तो धोनी ने मना कर दिया और कहा कि वो सिर्फ मुझे डांट रहे थे, जिससे बेहतर प्रदर्शन कर सकें। उन्होंने कहा, ‘मैं उस दिन काफी डरा हुआ था। मैच के बाद टीम बस में सफर करते वक्त मैं उनके पास गया और कहा कि आप कभी गुस्सा होते हो? तो धोनी भाई ने कहा कि 20 साल से गुस्सा नहीं किया।’