" /> लोकल चलाने पर सस्पेंस बरकरार : रेलवे ने नहीं लिया अभी कोई निर्णय

लोकल चलाने पर सस्पेंस बरकरार : रेलवे ने नहीं लिया अभी कोई निर्णय

सिर्फ सरकारी कर्मचारी कर सकेंगे सफर

लॉकडाउन के बीच मुंबई की लाइफ लाइन कही जानेवाली लोकल ट्रेन कभी भी पटरी पर लौट सकती है। रेल मंत्रालय ने राज्य सरकार की मांगों को मान लिया है। परंतु लोकल ट्रेन चलाने के निर्णय पर रेलवे की ओर से सस्पेंस बरकरार है। लोकल ट्रेन कब चलाई जाएगी इस पर अभी कोई अंतिम निर्णय रेलवे ने नहीं लिया है। अत्यावश्यक सेवाओं के लिए लोकल ट्रेन का परिचालन शुरू किया जाएगा। यह बात याद रहे कि लोकल ट्रेन का परिचालन जब भी शुरू किया जाएगा उसमें केवल सरकारी कर्मचारियों के सफर करने की अनुमति रहेगी। इसमें आम नागरिक सफर नहीं कर पाएंगे।
मध्य रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकार शिवाजी सुतार ने ‘दोपहर का सामना’ को स्पष्ट रूप से बताया है कि लोकल ट्रेन चलाने को लेकर अभी तक कोई निर्णय नहीं लिया गया है। लोकल ट्रेन के परिचालन पर जब भी निर्णय लिया जाएगा इसकी जानकारी दी जाएगी। गौरतलब है कि लॉकडाउन के बाद से ही राज्य सरकार रेलवे बोर्ड से अत्यावश्यक सेवाओं हेतु सरकारी कर्मचारियों के लिए स्पेशल लोकल ट्रेनें चलाने की मांग कर रही थी। रेल अधिकारियों की माने तो रेलवे बोर्ड ने यह मांग मान ली है। इसके तहत 15 जून से अत्यावश्यक सरकारी कर्मचारियों के लिए स्पेशल लोकल ट्रेनें चलाने की जानकारी सामने आ रही है। रेल सूत्रों की माने तो रेलवे ने इसके लिए एक बैठक आयोजित की थी। इस बैठक में तय किया गया कि रेलवे इन यात्रियों के लिए काउंटर से कोई टिकट जारी नहीं करेगी। ट्रेनों को चलाने के लिए राज्य सरकार रेलवे को यात्रियों की एक सूची प्रदान करेगी। सूची के आधार पर सारे टिकट सीधे राज्य सरकार को सौंप दिए जाएंगे। राज्य सरकार टिकटों का पैसा यात्रा से पहले चुकाएगी। भुगतान अग्रिम जमा आधार पर होगा। बैठक में यह भी तय किया गया कि लोकल से यात्रा करनेवाले सभी कर्मचारियों को क्यूआर कोड वाले आईकार्ड जारी करने की बात राज्य सरकार से कही जाएगी। ये लोकल ट्रेनें केवल फास्ट स्टेशनों पर स्टॉपेज के साथ एंड-टू-एंड चलेंगी। ट्रेनों और स्टेशनों पर भीड़-भाड़ से बचने के लिए राज्य सरकार को स्टैगर कार्यालय का समय निर्धारित करना चाहिए। कर्मचारियों के टिकटों, उनकी थर्मल जांच करने की जिम्मेदारी राज्य सरकार की होगी। इस सभी मुद्दों पर बैठक में चर्चा हुई है।