मुंबई टू पुणे फ्लाई एक्सप्रेस

पुराने मुंबई-पुणे महामार्ग पर होनेवाली ट्रैफिक जाम और संकरेपन की समस्या को दूर करने की कवायद महाराष्ट्र राज्य सड़क विकास महामंडल (एमएसआरडीसी) ने शुरू कर दी है। एमएसआरडीसी ने इस मार्ग पर कुल ९ फ्लाईओवर बनाने की योजना बनाई है और इस योजना का प्रस्ताव केंद्र सरकार के पास भेजा है। इन ९ फ्लाईओवर्स बनने के बाद मुंबई टू पुणे महामार्ग फ्लाई एक्सप्रेस के नाम से मशहूर हो सकता है। बता दें कि कई बार मॉनसून के दौरान मुंबई-पुणे एक्सप्रेस वे पर चट्टान गिरने की घटना सामने आती हैं।
चट्टान को हटाने या फिर यहां कोई दुर्घटना होने पर इस मार्ग पर ट्रैफिक जाम की समस्या होती है। साथ ही लंबी छुट्टियां आने पर इस मार्ग पर वाहनों की संख्या बढ़ जाती है, जिससे ट्रैफिक जाम का सामना वाहन चालकों को करना पड़ता है। ऐसे में एक्सप्रेस वे का ट्रैफिक पुराने मुंबई-पुणे महामार्ग की ओर मोड़ दिया जाता है। जानकारी के मुताबिक महामार्ग के आस-पास आबादी बढ़ने के कारण इस मार्ग पर वाहनों की संख्या में भी इजाफा हुआ है। इस महामार्ग पर कुछ महत्वपूर्ण चौक हैं, जहां `यू टर्न’ या फिर गाड़ी को पीछे लेते समय पीछे की ओर वाहनों की कतार लग जाती हैं। इन सभी समस्याओं को ध्यान में रखते हुए पुराने मुंबई-पुणे महामार्ग के ९ ठिकानों पर फ्लाईओवर का निर्माण करने की योजना है। ये फ्लाईओवर सोमटने फाटा, लिंब फाटा, तलेगांव, चाकन रास्ता, एमआईडीसी वडगांव, देहू रोड जंक्शन, वडगांव फाटा, निगड़ी फाटा से कामशेत, कार्ला फाटा, कान्हे फाटा में बनाने की योजना है। एमएसआरडीसी के अधिकारी का कहना है कि केंद्र के संबंधित विभाग से मान्यता मिलने के तुरंत बाद फ्लाईओवर के निर्माण कार्य के लिए टेंडर की प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी।