बारिश की पहली फुहार, हौले-हौले चली लोकल

मुंबई में मॉनसून ने कल अपनी पहली दस्तक दी। सुबह अचानक हुई तेज बारिश का असर कल लोकल व मेल एक्सप्रेस ट्रेनों पर दिखा। गाड़ियों की चाल हौले-हौले रही है। बारिश के कारण कल जहां पश्चिम रेलवे की मेल एक्सप्रेस ट्रेनें अपने समय से देरी पर चल रही थीं वहीं मध्य रेलवे के कंजूरमार्ग रेलवे स्टेशन के पास नाले में जलजमाव की घटना सामने आने के बाद लोकल सेवाएं देरी से चल रही थीं। जलजमाव के कारण कल मध्य रेलवे को २१ सेवाएं रद्द करनी पड़ीं।
पश्चिम रेलवे के जनसंपर्क विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार भारी बारिश की आशंका को देखते हुए पश्चिम रेलवे ने चर्चगेट से विरार के बीच सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए थे। रेलवे ट्रैक के अगल-बगल जलजमाव की स्थित पैदा न हो इसलिए पश्चिम रेलवे ने वरिष्ठ इंजीनियरों के सहयोग से रेलवे के विभागीय इंजीनियरों को फील्ड पर तैनात किया था। बारिश के कारण सिग्नलिंग सिस्टम में कोई व्यवधान पैदा न हो इसलिए सिग्नलिंग और टेलीकॉम विभाग के अधिकारियों को भी तैनात किया गया था। साथ ही बारिश के कारण भीड़ की स्थिति न बने इसलिए एफओबी पर भीड़ कंट्रोल करने के लिए आरपीएफ के जवानों को स्टेशनों पर तैनात किया गया था। ट्रैक और सिग्नल सब ठीक तरह से चल रहे थे। किसी भी तरह के फेलियर की घटना पश्चिम रेलवे पर नहीं दर्ज हुई। हालांकि बारिश के कारण मेल एक्सप्रेस ट्रेनों पर कुछ असर जरूर पड़ा। बड़ौदा डिविजन में बारिश के कारण सूरत से बड़ौदा के बीच मेल एक्सप्रेस ट्रेनें देरी से चल रही थी। वहीं मध्य रेलवे की लोकल ट्रेनों पर बारिश का कुछ असर जरूर देखने को मिला। मध्य रेलवे के प्रवक्ता अनिल कुमार जैन के अनुसार कांजुरमार्ग में जलजमाव की घटना देखी गई। जैन के मुताबिक कांजुरमार्ग रेलवे स्टेशन के बाहर नाले में किसी प्राइवेट पार्टी द्वारा भराव की वजह से विक्रोली एवं कांजुरमार्ग के बीच पानी पटरी पर आ गया है। यह नाला पश्चिम से पूर्व की ओर बहता है। इस संबंध में बीएमसी को तुरंत सूचित कर दिया गया है। जलजमाव के कारण मेन लाइन की १४ लोकल और हार्बर लाइन की ७ सेवाओं को रद्द किया गया। ऐसी जानकारी जैन ने दी।