" /> कोरोना संक्रमित अस्पतालों को फिर खोलेगी मनपा : 15 अस्पतालों को किया गया था सील

कोरोना संक्रमित अस्पतालों को फिर खोलेगी मनपा : 15 अस्पतालों को किया गया था सील

मुंबई में कोरोना से संक्रमित मरीजों की संख्या दिन-प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। इस बीमारी की जद में अस्पतालों की नर्सें, डॉक्टर सहित अन्य स्टाफ भी आ रहे हैं। शहर में ऐसे करीब 15 अस्पताल हैं, जिसे सील कर दिया गया है। नतीजतनअन्य अस्पतालों में कोरोना संक्रमित मरीजों का भार बढ़ने लगा है। इस बात को ध्यान में रखते हुए मनपा कोरोना संक्रमिण के कारण सील किए गए अस्पतालों को सेनिटाइज करके फिर से खोलने की तैयारी कर रही है।

बताया जाता है कि इन 15 अस्पतालों में लगभग 100 से अधिक कर्मचारी संक्रमित हुए हैं। वोकहार्ट अस्पताल में कोरोना रोगियों के संपर्क में आने के कारण नर्स और डॉक्टर सहित कुल 52 लोग तो जसलोक अस्पताल में 21 कर्मचारी संक्रमित हुए। इसी तरह भाटिया अस्पताल में 4 नर्सों के संक्रमित होने की खबर सामने आई थी। इसके अलावा जोगेश्वरी का मिल्लत हॉस्पिटल, हिंदुजा, ब्रीचकैंडी, भायखला स्थित जगजीवन रामनारायण रेलवे अस्पताल, पार्थ नर्सिंग होम, चेंबूर का साईं नर्सिंग होम, मुलुंड का स्पंदन सहित कुल 15 अस्पताल कोरोना महामारी के कारण बंद किया गए थे। इन अस्पतालों के बंद होने के बाद से अन्य तमाम अस्पतालों में मरीजों की संख्या बढ़ने लगी थी। इन अस्पतालों को सैनिटाइज कर इसे वायरस रहित करने संबंधी नियमावली दी गई है। इसी हफ्ते में अस्पतालों के कुछ नमूनों को जांच के लिए भेजा जाएगा और यह सुनिश्चित किया जाएगा कि अस्पताल वायरस रहित हुआ है या नहीं? सुनिश्चित होने के बाद ही अस्पतालों को फिर से खोला जाएगा। बता दें कि कोरोना वायरस से महाराष्ट्र सबसे अधिक प्रभावित राज्यों में है। महाराष्ट्र में मुंबई में काफी अधिक संख्या में मरीज सामने आ रहे हैं। यह वायरस मरीजों का इलाज कर रहे अस्पतालों के डॉक्टर्स और नर्सों में भी फैल गया था, जिसके बाद अस्पतालों को बंद करना पड़ा था।