" /> बेटे का काटा गला मां को ले गया पुलिस स्टेशन, मामूली विवाद में किया मासूम का कत्ल

बेटे का काटा गला मां को ले गया पुलिस स्टेशन, मामूली विवाद में किया मासूम का कत्ल

घर के सामने ओटा बनाने को लेकर हुए विवाद के चलते एक २३ वर्षीय युवक ने एक मां की कोख सुनी कर दी। १३ वर्षीय बेटे का गला काटने के बाद आरोपी उसकी मां को मदद करने के नाम पर पुलिस स्टेशन ले गया और वहां गुमशुदगी की रिपोर्ट लिखवाई। जांच के बाद मालवणी पुलिस ने आरोपी को गोरेगांव-पूर्व के आरे कॉलोनी से २४ घंटे के अंदर गिरफ्तार कर लिया।
बता दें कि मालाड-पश्चिम के अक्सा बीच के पास स्थित धारवली गांव से पहले एमटीडीसी प्लॉट के बगल में बने पुल के पास की झाडियों में एक सिर कटी लाश पड़ी होने की जानकारी मालवणी पुलिस को मिली। जोन ११ के डीसीपी विशाल ठाकुर ने बताया कि एसीपी दिलीप यादव के मार्गदर्शन में पुलिस निरीक्षक अर्जुन रजाने, शेख, पुलिस उपनिरीक्षक हसन मुलानी आदि की टीम गठित की गई। जांच में पता चला कि आरे पुलिस स्टेशन में एक १३ वर्षीय बालक के गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज की गई है। उस आधार पर पुलिस टीम ने लाश के पास मिला एक लॉकेट उक्त बालक की मां को दिखाया तो मां ने वह लॉकेट पहचान लिया।
पीएसआई मुलानी और उनकी टीम १३ वर्षीय मृतक के दोस्त कौन-कौन हैं और उसका किसी से झगड़ा तो नहीं हुआ था? यह पता लगाने लगी। तभी उन्हें पता चला कि बरसात का पानी घर में न जाए इसलिए घर के आगे करण बहादुर (२३) एक छोटा ओटा बना रहा था। तब झगड़ा कर मां और बेटे ने उस ओटे को २ जुलाई को तोड़ दिया। घटना के लगभग ८ दिन बाद यानी १० जुलाई को करण उस बालक को अपनी ऑटो रिक्शा में बिठाकर अक्सा घुमाने के बहाने ले आया था और यहां उसकी हत्या कर दी थी। एसीपी दिलीप यादव ने बताया कि करण लोगों के घर जा कर मालिश किया करता था। मालिश का सामान ले जाने के लिए वह रिक्शा का उपयोग किया करता था।