" /> ‘मेरा परिवार, मेरी जिम्मेदारी’ है आत्मरक्षा का सबसे  अच्छा उपाय! – मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे

‘मेरा परिवार, मेरी जिम्मेदारी’ है आत्मरक्षा का सबसे  अच्छा उपाय! – मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे

कोरोना में खिलाफ लड़ाई में आत्मरक्षा सबसे अच्छा उपाय है। ‘मेरा परिवार, मेरी जिम्मेदारी’ अभियान नागरिकों को आत्मरक्षा के महत्व को समझाने के लिए महत्वपूर्ण हथियार साबित होगा। ऐसा प्रतिपादन मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कल किया। राज्य के अन्य शहरों की महापालिका और नगरपालिका के जनप्रतिनिधियों से वीडियो कॉन्प्रâेंसिंग के माध्यम से मुख्यमंत्री ने बातचीत करते हुए उक्त बातें कहीं।
इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने जनप्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए कहा, ‘मेरा परिवार, मेरी जिम्मेदारी’ अभियान राज्य में आज १५ सितंबर से शुरू किया जा रहा है। इस अभियान के माध्यम से प्रत्येक नागरिक से रोगों के बारे में पूछताछ और उनकी जांच की जाएगी। कोरोना के खिलाफ लड़ाई के दौरान बरती जाने वाली सावधानियों के बारे में भी लोगों को जागरूक किया जाएगा। राज्य में सार्वजनिक जीवन में सुधार हो रहा है इसलिए कोरोना श्रृंखला को तोड़ना भी उतना ही महत्वपूर्ण है। इसके लिए हमें कोरोना के साथ रहना और अपनी जीवनशैली में बदलाव लाना होगा। इस बारे में जनता में जागरूकता लाना महत्वपूर्ण है। यह अभियान इसलिए महत्वपूर्ण है क्योंकि जनप्रतिनिधि व प्रशासन को अंतिम व्यक्ति तक पहुंचना होगा। यदि सभी अपनी जिम्मेदारी को समझते हैं और अपने परिवार की रक्षा करते हैं, तो वैकल्पिक रूप से हमारा महाराष्ट्र सुरक्षित रहेगा। इस संबंध में मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि यह समय सभी के जीवन में एक महत्वपूर्ण मोड़ है और यह अभियान भविष्य की अन्य महामारियों के संकट में जनता को तैयार करने में मदद करेगा।
कोरोना को तड़ीपार करने के लिए यह अभियान अंतिम प्रयास -एकनाथ शिंदे
इस अवसर पर शहरी विकास मंत्री एकनाथ शिंदे ने कहा कि ‘मेरा परिवार, मेरी जिम्मेदारी’ अभियान कोरोना को तड़ीपार करने के लिए अंतिम प्रयास है। इस अभियान के माध्यम से हम हर परिवार तक जाएंगे और कोरोना के खिलाफ लड़ाई में आत्मरक्षा के उपायों के महत्व को समझाएंगे। सरकार ने कोरोना के बचाव के लिए आवश्यक स्वास्थ्य सेवा बनाने का काम किया है। अब जनभागीदारी के जरिए कोरोना श्रृंखला को तोड़ने की कोशिश करना है। यह अभियान उसी के एक भाग के रूप में कार्यान्वित किया जा रहा है। यह मुहिम सभी ने मिलकर सफल किया तो अन्य राज्यों के लिए यह एक मॉडल होगा। ऐसा विश्वास शिंदे ने व्यक्त किया। महीने भर के दौरान राज्य भर में जिन स्थानों पर यह अभियान सफलतापूर्वक लागू किया जाएगा, उस परिसर में निश्चित ही कोरोना के प्रसार को नियंत्रण में ला सकेंगे, ऐसा मत मुख्यमंत्री के प्रधान सलाहकार अजोय मेहता ने व्यक्त किया। इस अवसर पर मुख्य सचिव संजयकुमार ने कहा कि इस योजना के माध्यम से विकसित होने वाले मॉडल आने वाले समय में संसर्ग रोगों के खिलाफ लड़ाई में मार्गदर्शक साबित होगा। इस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री व नगरविकास मंत्री के अलावा ठाणे के महापौर नरेश म्हस्के, राज्य के मुख्य सचिव संजय कुमार, मुख्यमंत्री के प्रधान सलाहकार अजोय मेहता, प्रधान सचिव आरोग्य डॉ. प्रदीप व्यास, प्रधान सचिव नगरविकास महेश पाठक, राष्ट्रीय स्वास्थ्य अभियान संचालक डॉ. एन.रामस्वामी, ठाणे मनपा आयुक्त बिपिन शर्मा सहित मुंबई महानगर प्रदेश महापालिका, नगरपालिका के जनप्रतिनिधि, मनपा आयुक्त, मुख्याधिकारी आदि शामिल हुए।