‘मैयत’ बने देवदूत, नोज लैंडिंग से बची 89 जिंदगियां

विमान दुर्घटना से बचाने वाला शख्स किसी देवदूत से कम नहीं। इसी प्रकार की एक घटना में म्यांमार नेशनल एयरलाइंस के विमान की नोज लैडिंग करके पायलट ने विमान में सवार 89 जिंदगियां बचा लीं। इतने लोगों को बचाने वाले पायलट का नाम कैप्टन मैयत मो आंग है।
बता दें कि मांडले अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर विमान का अगला गियर फेल होने के कारण पायलट ने पीछे के पहियों के सहारे आपात लैंडिंग कराई। इस विमान में 89 यात्री समेत चालक दल के सदस्य सवार थे। एंब्रेयर 190 विमान लैंडिग करते ही रनवे पर फिसल गया। पायलट ने विमान के नोज के सहारे लैंडिंग कराई। इसमें विमान में सवार दर्जनों लोगों व चालक दल के सदस्यों को कोई चोट नहीं आई। एक अंग्रेजी मीडिया की रिपोर्ट के मुताबिक एयरलाइन के हवाले से कहा गया है कि कैप्टन मैयत मो आंग ने हवाई यातायात नियंत्रकों को यह निर्धारित करने के लिए दो बार हवाईअड्डे का चक्कर लगाया, ताकि पता चल सके कि लैंडिंग गियर नीचे है या नहीं। एयरलाइन के अनुसार, विमान यंगून से रवाना हुआ था और मांडले के करीब था, जब पायलट को लैंडिंग गियर के फेल की जानकारी हुई। जिसके बाद पायलट ने आपातकालीन प्रक्रियाओं का पालन किया और विमान के वजन को कम करने के लिए अतिरिक्त ईंधन खर्च करके विमान को नोज के सहारे लैंड करवाया। म्यांमार में इस सप्ताह अपने तरह की यह दूसरी विमान दुर्घटना है।