" /> मुंबई से गुड न्यूज : कोरोना संक्रमित कोख से स्वस्थ बच्चों ने लिया जन्म

मुंबई से गुड न्यूज : कोरोना संक्रमित कोख से स्वस्थ बच्चों ने लिया जन्म

नानावटी अस्पताल के डॉक्टरों का चमत्कार
कोरोना संक्रमित महिलाओं ने दिया स्वस्थ बच्चों को जन्म

मुंबई के नानावटी अस्पताल में कोरोना पॉजिटिव दो महिलाओं ने दो स्वस्थ बच्चों को जन्म दिया है। 35 साल की महिला ने जहां बेटी को जन्म दिया है, वहीं मुंबई के एक उपनगर की रहनेवाली 25 साल की एक अन्य महिला ने बेटे को जन्म दिया। नानावटी अस्पताल में कोरोना संक्रमित इन दोनों महिलाओं ने स्वस्थ बच्चों को जन्म दिया है। जन्म लेने के बाद दोनों बच्चों को उनकी मांओं से अलग रखने का विशेष इंतजाम किया गया है।
महाराष्ट्र में देश के किसी भी राज्य से कोरोना वायरस केस की संख्या सबसे अधिक है। कोरोना वायरस संक्रमण और लॉकडाउन से जुड़ी खबरों के बीच मुंबई के नानावटी अस्पताल से गुड न्यूज एक साथ आई है कि मुंबई के नानावटी अस्पताल में कोविड-19 पॉजिटिव दो महिलाओं ने दो स्वस्थ बच्चों को जन्म दिया है। दो स्वस्थ बच्चों के जन्म से न सिर्फ उनके परिवारों, बल्कि नानावटी अस्पताल के डॉक्टर्स और अन्य हेल्थकेयर वर्कर्स में भी खुशी है। ये डॉक्टर और हेल्थकेयर वर्कर्स रात-दिन कोविड-19 महामारी से लड़ाई कर रहे हैं और मरीजों के इलाज में जुटे हैं।
अस्पताल में इंटरनेशनल केस स्टडीज के निरीक्षण के बाद स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर को अपनाया जा रहा है। इन दोनों कोविड-19 पॉजिटिव प्रेग्नेंट महिलाओं को एडमिट करने से पहले ही प्रसूति और स्त्री रोग विभाग, संक्रामक बीमारी विशेषज्ञों और शिशु रोग विभाग ने पूरे समन्वय के साथ एक्शन प्लान बनाया। नानावटी अस्पताल के प्रसूति और स्त्री रोग विभाग में वरिष्ठ सलाहकार डॉ. सुरूचि देसाई ने कहा, ‘ऐसी बहुत कम सर्जरी ही हिंदुस्थान में हुई है। इसके लिए स्पेशल अब्स्टेट्रिक्स यूनिट (विशेष प्रसूति यूनिट) की गई, जहां संक्रमण नियंत्रण प्रोटोकॉल्स का पूरा ध्यान रखा गया। हमने सर्जिकल स्टाफ को कम-से-कम रखा और उन्हें पीपीई के इस्तेमाल के लिए ट्रेंड किया गया। स्पेशल कोविड कॉरिडोर भी बनाए गए, जिससे मां और बच्चे को सुरक्षित लाया और ले जाया जा सके।’ सर्जिकल यूनिट ने ये अतिरिक्त सतर्कता बरती कि मां और बच्चे के बीच किसी तरह का संपर्क न हो। दोनों बच्चों के जन्म के बाद नियोनेटोलॉजिस्ट्स की टीम ने बच्चों को स्पेशल आइसोलेशन इंटेंसिव केयर यूनिट में शिफ्ट किया। इस टीम का नेतृत्व शिशु रोग विभाग के प्रमुख डॉ. तुषार मनियार ने किया। बच्चों का कोविड-19 स्टेट्स तीसरे और आठवें दिन चेक किया जाएगा। डॉक्टरों का कहना है कि दोनों बच्चे पूरी तरह स्वस्थ हैं।