" /> गणेशोत्सव में न भीड़ बढ़े, न कोरोना!-मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे

गणेशोत्सव में न भीड़ बढ़े, न कोरोना!-मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे

कोरोना प्रभावित रोगियों के इलाज के लिए पूरे राज्य में सुविधाएं स्थापित की जा रही हैं। बारिश, कोरोना के प्रकोप और त्योहार सब एकत्र होने के कारण अधिक देखभाल की आवश्यकता है। इसलिए सभी को सावधान रहना चाहिए कि पूरे गणेशोत्सव के दौरान कोई भीड़ न हो और कोरोना की घटनाओं में वृद्धि न हो। कल शिवाजीनगर स्थित सरकारी अभियांत्रिकी महाविद्यालय परिसर में कोरोना रोगियों के उपचार के लिए बनाए गए कोविड अस्पताल का मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के हाथों ऑनलाइन उद्घाटन किया गया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने उक्त बातें कहीं।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा कि किसी प्रकार की लापरवाही न रखते हुए अब तक जिस प्रकार से सावधानी आप लोगों ने बरती है, वही सावधानी आगे भी रखें। इसी के साथ उन्होंने पुणे के लोगों के अच्छे स्वास्थ्य के लिए भी प्रार्थना की। इस अवसर पर उपमुख्यमंत्री अजीत पवार कार्यक्रम स्थल पर उपस्थित थे। कार्यक्रम में महापौर मुरलीधर मोहोल, विधायक सुनील कांबले, विधायक सिद्धार्थ शिरोले, पुणे महानगरपालिका स्थायी समिति के अध्यक्ष हेमंत रासने, विभागीय आयुक्त सौरभ राव, पुलिस आयुक्त डॉ. के. व्यंकटेशम, पुणे महानगर प्रदेश विकास प्राधिकरण के मुख्य कार्यकारी अधिकारी सुहास दिवसे, जिलाधिकारी डॉ. राजेश देशमुख, पुणे मनपा आयुक्त विक्रम कुमार, पिंपरी-चिंचवड मनपा आयुक्त श्रावण हर्डीकर, अतिरिक्त आयुक्त रुबल अग्रवाल, दीपाली डिजाइंस के प्रबंध संचालक विनय मित्तल उपस्थित थे। सांसद सुप्रिया सुले, सांसद श्रीरंग बारणे, विधायक डॉ. नीलम गोर्‍हे, चंद्रकांत पाटील, माधुरी मिसाल आदि मान्यवर ऑनलाइन कार्यक्रम में सहभागी हुए थे। कार्यक्रम की शुरुआत में मुख्यमंत्री ने सभी को गणेशोत्सव की शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि कोरोना के कारण सभी धर्मों के लोगों ने अब तक सादगी के साथ घर पर त्योहार मनाकर सरकार का सहयोग किया। उसके लिए सभी का आभार! उन्होंने कहा कि विदेश से लोग पुणे शहर में गणेशोत्सव देखने आते हैं, हमने हर साल की तरह इस साल भी श्री गणेश की स्थापना की है, लेकिन इस बार हमारे सामने कोरोना का व्यवधान है। इस विघ्न से जल्द से जल्द छुटकारा पाएं और इस वर्ष के गणेशोत्सव को सामाजिक चेतना के साथ शांति से मनाएं। ऐसी अपेक्षा व्यक्त करते हुए मुख्यमंत्री ने संपूर्ण गणेशोत्सव के दौरान भीड़ न हो, कोरोना का प्रकोप न बढ़े, इस बात की सभी को सावधानी बरतने का आह्वान किया। इसके साथ ही मास्क लगाने, बार-बार हाथ धोने, स्वच्छता रखने, सामाजिक दूरी बनाए रखने आदि बातें मुख्यमंत्री ने इस मौके पर कहीं।

दूसरी लहर रोकने की जरूरत
मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा कि कोरोना रोगियों के इलाज के लिए पुणे में बहुत कम समय में एक जंबो अस्पताल स्थापित किया गया था। यह उल्लेखनीय बात है। पुणे के कोविड अस्पताल को अत्याधुनिक सुविधाएं प्रदान की गई हैं। कोरोना को लेकर लापरवाही चलनेवाली नहीं है। कोरोना को रोकने के उद्देश्य से अधिक सुविधाएं स्थापित की जा रही हैं और उम्मीद है कि पुणे के लोगों को अच्छा स्वास्थ्य मिलेगा। ऐसा विश्वास मुख्यमंत्री ने व्यक्त किया। लॉकडाउन के बाद कई चीजो में सरकार ने शिथिलता दी है। दैनंदिन व्यवहार को पटरी पर लाने का प्रत्यन शुरू है। लेकिन इसमें लापरवाही बरतना ठीक नहीं है। हमेशा सतर्क रहना होगा। कोरोना के प्रादुर्भाव रोकने के लिए कड़ाई से नियोजन करने और नागरिकों को नियमों का पालन करने का मुख्यमंत्री ने आह्वान किया, ताकि दूसरी लहर न आ सके। ऐसा मुख्यमंत्री ने कहा। इस अवसर पर उपमुख्यमंत्री अजीत पवार ने कहा कि इस कोविड अस्पताल से ग्रामीण भाग के रोगियों को फायदा होगा। इस मोके पर महापौर मुरलीधर मोहोल, विभागीय आयुक्त सौरभ राव आदि ने अपने विचार व्यक्त किए।