निरुपम हैं कि मानते नहीं! देवड़ा के इस्तीफे पर दागे सवाल

लोकसभा चुनाव की पार्श्वभूमि पर तत्कालीन मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष संजय निरुपम की हकालपट्टी करके कांग्रेसी नेता व पूर्व केंद्रीय मंत्री मिलिंद देवड़ा को मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष बनाया गया था। लोकसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी की हुई करारी हार के बाद कांग्रेस में इस्तीफे का दौर चालू है। इसी के तहत मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष मिलिंद देवड़ा ने अपना इस्तीफा पार्टी हाई कमान को देते हुए राष्ट्रीय राजनीति में अपनी सेवा देने की इच्छा जताई है। मिलिंद देवड़ा के इस्तीफे पर भी मुंबई कांग्रेस में राजनीति शुरू हो गई है। मुंबई कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष संजय निरुपम किसी भी हालत में वे अपनी राजनीति करने से बाज नहीं आ रही हैं। मिलिंद देवड़ा के इस्तीफे को लेकर निरुपम ने कई सवाल दागे हैं। निरुपम ने ट्विटर के माध्यम से मिलिंद देवड़ा के इस्तीफे पर सवाल करते हुए कहा है कि इस्तीफे में त्याग की भावना अंतर्निहित होती है। यहां तो इस्तीफा देने के दूसरे क्षण ‘राष्ट्रीय’ स्तर का पद मांगा जा रहा है। यह इस्तीफा है या ऊपर चढ़ने की सीढ़ी? निरुपम ने आगे यह भी कहा है कि पार्टी को ऐसे ‘कर्मठ’ लोगों से सावधान रहना चाहिए। निरुपम ने ट्विटर के माध्यम से बिना नाम लिए अप्रत्यक्षरूप से मिलिंद देवड़ा पर निशाना साधा है।