" /> उत्तन में कोरोना को ‘नो एंट्री’ : पुलिसकर्मियों ने ‘सिर मुंडवा’ कर लिया संकल्प

उत्तन में कोरोना को ‘नो एंट्री’ : पुलिसकर्मियों ने ‘सिर मुंडवा’ कर लिया संकल्प

उत्तन सागरी पुलिस स्टेशन के पुलिसकर्मियों ने अपना ‘सिर मुंडवा’ कर उत्तन परिसर में कोरोना वायरस को ‘नो एंट्री’ देने का संकल्प लिया है।
बता दें कि करीब १४ लाख की आबादी वाले मीरा-भाइंदर शहर के पश्चिम में सागर किनारे बसे उत्तन व इसके आस-पास के पाली, डोंगरी, चारोड़ी आदि गांव में आज तक एक भी कोरोना का मरीज नहीं पाया गया, जबकि मीरा-भाइंदर शहर में अब तक ५२ कोरोना पॉजिटिव मरीज पाए गए हैं, जिनमें से ५ मरीज कोरोना मुक्त होकर स्वस्थ हुए हैं तो दो मरीजों की मौत हो चुकी है।
संसर्गजन्य कोरोना वायरस से भाइंदर (पश्चिम) का उत्तन परिसर अब तक अछूता है। इसे देखते हुए उत्तन सागरी पुलिस स्टेशन के पुलिसकर्मियों ने उत्साह से अपना सिर मुंडवा लिया और संकल्प लिया कि कोरोना वायरस को उत्तन परिसर में नहीं घुसने देंगे। उत्तन परिसर सागर तट पर बसे होने के कारण यहां के लोगों का मुख्य व्यवसाय मत्स्य उद्योग पर आधारित है। यहां मछुआरों के मछली पकड़ने पर पाबंदी नहीं लगाई गई है लेकिन बाहर से मछली खरीदने आनेवाले व्यापारियों को उत्तन परिसर के बाहर डोंगरी चेक पोस्ट पर ही रोक दिया जाता है और उनको वहीं पर मछली की आपूर्ति की जा रही है, जिससे मछुआरों के उदरनिर्वाह पर कोई प्रतिकूल असर न पड़े और बाहरी किसी व्यक्ति से यह वायरस उत्तन में प्रवेश नहीं कर सके।

◆ कोरोना वायरस से लड़ने के लिए हम सभी पुलिसकर्मी एकजुट हैं। हम चाहते हैं कि आम नागरिक भी अपने घरों में रहकर इस लड़ाई में सहयोग करें। हम बिना जांच किए हुए किसी भी व्यक्ति को उत्तन में प्रवेश नही देते हैं। राज्य सरकार ने उत्तन के मछुआरों को मछली पकड़ने की अनुमति दी है। इसलिए हमने उत्तन वासियों से आग्रह किया है कि वे अपनी मछली को उत्तन सागरी पुलिस स्टेशन के चेकपोस्ट के पास खाली पड़े भूखंड पर लाएं और यहीं से बाहर के व्यापारियों को मछलियां बिक्री करें, जिससे किसी बाहरी व्यक्ति के संसर्ग से कोरोना वायरस इस परिसर में नहीं घुस सके।
– सतीश निकम (पुलिस निरीक्षक- उत्तन सागरी पुलिस स्टेशन)

◆ कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए केंद्र व राज्य सरकार द्वारा लागू किए गए लॉकडाउन के बाद से ही पुलिस प्रशासन, महानगरपालिका प्रशासन बहुत ही अच्छा कार्य कर रही है। उत्तन के ग्रामीण भी उनका अच्छा सहयोग कर रहे हैं। पुलिस प्रशासन नाकाबंदी कर किसी भी बाहरी व्यक्ति को यहां प्रवेश नहीं दे रहा है। यहां का मत्स्य व्यवसाय भी लॉकडाउन की वजह से प्रभावित हुआ है लेकिन कुछ दानवीर लोग इस परिस्थिति में यहां के ग्रामीणों को सेवा दे रहे हैं। अब तक यहां का परिसर कोरोना वायरस से मुक्त है। हम सभी प्रार्थना करते हैं कि इस महामारी से ईश्वर सभी की रक्षा करे।
– शर्मिला बगाजी ( स्थानीय शिवसेना नगरसेविका)