" /> अब स्त्री शक्ति होगी डिजिटल

अब स्त्री शक्ति होगी डिजिटल

५,००० युवती होंगी ‘सायबर सखी’ सायबर सुरक्षा का दिया जाएगा प्रशिक्षण

महाराष्ट्र राज्य महिला आयोग और रिस्पॉन्सिबल नेटिजम के संयुक्त तत्वावधान में `डिजिटल स्त्री शक्ति’ उपक्रम का शुभारंभ आज २१ जुलाई को राज्य की महिला व बाल विकास मंत्री एड. यशोमति ठाकुर के हाथों किया जाएगा।
इस उपक्रम के अंतर्गत मुंबई सहित राज्यभर के दस शहरों में ५००० महाविद्यालय की युवतियों को सायबर सुरक्षा का मार्गदर्शन वेबिनार के माध्यम से दिया जाएगा। मोबाइल और इंटरनेट के बढ़ते उपयोग के साथ-साथ महिलाओं के खिलाफ साइबर अपराध और धोखाधड़ी भी बढ़ रहे हैं। साइबर दुनिया में लड़कियों को सुरक्षित उपयोग और गतिशीलता के लिए प्रशिक्षित करने के लिए डिजिटल स्त्री शक्ति `डिजिटल वुमन एम्पावरमेंट’ पहल शुरू किया जा रहा है।
१६ से २५ वर्ष आयु के बीच की कॉलेज लड़कियों को इंटरनेट के सुरक्षित उपयोग, गैरप्रकार हुए मामले में कानूनी मुद्दों, मनोवैज्ञानिक परिणामों, तकनीकी धोखाधड़ी आदि के बारे में विशेषज्ञों द्वारा मार्गदर्शन किया जाएगा। १०० वेबिनार में से राज्य के १० शहरों में ५००० युवतियों को `साइबर सखी’ के रूप में प्रशिक्षित किया जाएगा। वेबिनार का उद्घाटन २१ जुलाई को पूर्वाह्न ११ बजे होगा। इस अवसर पर महिला एवं बाल विकास राज्य मंत्री यशोमति ठाकुर मार्गदर्शन करेंगी। घनश्यामदास सराफ कॉलेज के छात्रों के लिए आयोजित वेबिनार में साइबर क्षेत्र के विशेषज्ञों सहित मुंबई पुलिस सायबर शाखा की उपायुक्त डॉ. रश्मि करंदीकर भी उपस्थित रहेंगी।