" /> विंडो से हटे, ऐप पर डटे! मोबाइल टिकट की ब्रिक्री बढ़ी

विंडो से हटे, ऐप पर डटे! मोबाइल टिकट की ब्रिक्री बढ़ी

७ फीसदी का हुआ इजाफा
रोज करते हैं ७८ लाख यात्री सफर
कोरोना वायरस धीरे-धीरे देश के अलग-अलग हिस्सों में तेजी से फैल रहा है। महाराष्ट्र में भी जैसे-जैसे कोरोना के मामले बढ़ते जा रहे हैं, वैसे-वैसे लोगों में डर का माहौल भी पैदा होने लगा है। ऐसे में लोग अलर्ट होते नजर आ रहे हैं। मुंबई और उसके आस-पास के शहरों में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए लोगों ने यात्रा करने के लिए रेलवे के टिकट काउंटर से टिकट खरीदने की बजाय ऐप के जरिए टिकट खरीदना शुरू कर दिया है। पिछले एक सप्ताह में यूटीएस ऐप के जरिए टिकट खरीदनेवाले लोगों की संख्या में ७ फीसदी की वृद्धि देखने को मिली है।
मुंबई की लाइफ लाइन कही जानेवाली लोकल ट्रेन में हर दिन ७८ लाख से अधिक लोग सफर करते हैं और इसके टिकट के लिए लंबी लाइन में लगना पड़ता है। वहीं अब कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के डर से लोग मुंबई लोकल का टिकट काउंटर की बजाए ऐप के जरिए ही खरीद रहे हैं। ऑनलाइन टिकट की खरीदी में ७ फीसदी का इजाफा हुआ है। जहां मंगलवार को करीब ४० हजार लोगों ने ऐप के माध्यम से टिकट खरीदा, वहीं बुधवार को यह आंकड़ा डबल हो गया। इस दिन करीब ८७ हजार लोगों ने काउंटर की बजाए ऑनलाइन टिकट खरीदा। वहीं रेलवे का मानना है कि इस संख्या में अभी और इजाफा होगा। लोगों का ऑनलाइन टिकट खरीदना बता रहा है कि मुंबई में लोग कोरोना वायरस को लेकर काफी सावधानी बरत रहे हैं। एहतियातन रेलवे से जुड़े हुए कई सारे कार्यालय और हेरिटेज म्यूजियम को बंद कर दिया गया है। साथ ही रेलवे लोकल ट्रेनों को भी कोरोना के संक्रमण से मुक्त करने में लगी है। लोकल ट्रेनों की बारीकी से साफ-सफाई की जा रही है ताकि लोकल ट्रेनों में सफर करनेवाले यात्री सुरक्षित रह सकें।