" /> आउट ऑफ पैवेलियन…झूम उठी बीवी

आउट ऑफ पैवेलियन…झूम उठी बीवी

मियां से अधिक खुशी तो बीवी को थी। यूं तो किसी को भी जीत की अथाह ख़ुशी होती है, मगर जितनी खुश बीवी थी लग रहा था जैसे पूरे स्टेडियम में वही अकेली हो जो झूम रही हो, उछल रही हो और बार-बार तालियां बजा रही हो। ठीक भी है आखिर मियां जी के कमाल पर भला कौन बीवी न झूमे। जी हां, ये साक्षी धोनी की बात है। आईपीएल की ट्रॉफी जब चेन्नई यानी महेंद्र सिंह धोनी ने केकेआर को हराकर चौथी बार जीती तो स्टेडियम में बैठी उनकी पत्नी साक्षी और बेटी जीवा का उत्साह देखने लायक था। वो झूम-झूम कर खुशी से उछल रही थीं और मैदान पर उनके पति यानी धोनी उतने ही शांत थे, जितने कि वो रहते हैं। विजय को भी अपने स्वभाव से पचा लेनेवाले धोनी सचमुच एक महान खिलाड़ी हैं। उनकी पत्नी पहले से ही बड़ी चुलबुली रही हैं और वे जब दुखी होती हैं तो भी बहुत अधिक दुखी हो जाती हैं, मगर फिलहाल तो खुश हैं और उनके उछलते-कूदते और नाचते हुए वीडियो क्लिप सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहे हैं।

नहीं छोड़ रहा खेलना

सारे कयास उस वक्त धरे रह गए जब प्रेजेंटेशन सेरेमनी में महेंद्र सिंह धोनी ने कमेंटेटर हर्षा भोगले को स्पष्ट जवाब दे दिया। दरअसल, बड़े दिनों से ये हवा बनाई जा रही थी कि धोनी इस आईपीएल के बाद रिटायरमेंट ले लेंगे। जैसे विराट कोहली ने घोषणा की अपनी कप्तानी को लेकर। वैसे ही माना जा रहा था कि ये आखिरी आईपीएल होगा धोनी का और तब अधिक लगने लगा था, जब उन्होंने अपनी कप्तानी में चौथी बार चेन्नई को जीत दिलवाई। हर्षा भोगले को लगा जैसे उनकी बात सही साबित हो जाएगी और क्रिकेट की दुनिया में आकलन करने के उनके अनुभव को भी लोग सुर्खियां बनाएंगे, मगर धोनी ने उनकी बात को नकारते हुए स्पष्ट जवाब देकर अपने प्रशंसकों को खुश कर दिया। दरअसल, प्रेजेंटेशन सेरेमनी के दौरान जब धोनी स्टेज पर ट्रॉफी उठाने गए, तब कमेंटेटर हर्षा भोगले ने कहा कि आप अपने पीछे चेन्नई सुपर किंग्स के लिए महान उपलब्धि छोड़कर जा रहे हैं। इस पर धोनी ने तुरंत पलटकर जवाब दिया और कहा कि मैंने अभी तक खेलना छोड़ा नहीं है। इसी के साथ उन्होंने संन्यास के सारे कयासों पर पानी फेर दिया। धोनी अब अगला सीजन भी खेल सकते हैं और यह चेन्नई और धोनी के पैंâस के लिए सबसे बड़ी खुशखबरी है।

सना का दिमाग


पाकिस्तानी महिला क्रिकेट खिलाड़ी हैं सना मीर। अब चूंकि पाकिस्तान की हैं तो अपने देश के लिए तो कहना ही पड़ेगा, मगर इतना अधिक कह देना जबकि दुनिया में अन्य देश भी हर मामले में पाकिस्तान से आगे हैं तो थोड़ी बात हजम नहीं होती। हालांकि, सना ने जोर देकर कहा है कि ये उनका दिल ही नहीं, बल्कि दिमाग भी कहता है। क्या कहता है? सना का कहना है कि दुनिया में सर्वश्रेष्ठ टीम है पाकिस्तान। ये यदि वो दिल से कहतीं तो बात समझ में आती मगर दिमाग से कह रही हैं तो सना को हिंदुस्थान, ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड और वेस्टइंडीज टीम के रिकॉर्ड, उनके प्रदर्शन और उनकी रैंक पर भी ध्यान देना चाहिए था। मौजूदा परिस्थिति में पाकिस्तान को बांग्लादेश के बाद की टीम आंका जा रहा है, मगर सना का दिमाग सर्वश्रेष्ठ बोलता है। अब बोलना भी पड़ेगा आखिर पाकिस्तान में अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता इतनी संभव नहीं कि कोई निष्पक्ष अपनी बात कह दे और वो भी कोई पाकिस्तानी महिला। खैर, देखते हैं पाकिस्तान को यूएई कितना रास आता है, जितना कहा जा रहा है।

सिर्फ २९ में हार्ट अटैक

ये न केवल दु:खद है, बल्कि इतनी कम उम्र में दिल का दौरा पड़ना हैरानी की बात है। क्रिकेट जगत की ये संभवत: पहली घटना है, जब कोई महज २९ साल की उम्र में हार्टअटैक से अनंत यात्रा पर निकल जाए। युवा खिलाड़ी था और अभी तो भविष्य में कई रंग देखने थे, मगर विधि के विधान से कब कौन बचा है? हिंदुस्थान के पूर्व अंडर-१९ कप्तान और २०१९-२० सीजन में रणजी ट्रॉफी जीतनेवाली टीम के सदस्य अवि बरोट का महज २९ वर्ष की उम्र में निधन हो गया है। कार्डियक अरेस्ट ने इस विकेटकीपर की जान ले ली। सौराष्ट्र क्रिकेट एसोसिएशन ने इस खबर की पुष्टि की है। इस खबर से क्रिकेट जगत सदमे में है। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के सचिव जय शाह सहित तमाम लोगों ने दु:ख व्यक्त किया है। दाएं हाथ के बल्लेबाज थे, जो ऑफ ब्रेक भी फेंक सकते थे। बरोट ने ३८ प्रथम श्रेणी मैच, ३८ लिस्ट ए मैच और २० घरेलू टी-२० मैच खेले। वो एक विकेटकीपर-बल्लेबाज थे और उन्होंने प्रथम श्रेणी मैचों में १,५४७ रन बनाए, लिस्ट-ए खेलों में १०३० रन और टी-२० में ७१७ रन बनाए थे।