" /> आउट ऑफ पैवेलियन….कीवी क्रिकेटर को कैंसर

आउट ऑफ पैवेलियन….कीवी क्रिकेटर को कैंसर

कीवी क्रिकेटर को कैंसर

खिलाड़ी यदि वैंâसर जैसी बीमारी से ग्रस्त हो तो अफसोसजनक है किंतु यहीं युवराज सिंह जैसे योद्धा की याद आती है जो इस रोग से भी लड़कर जीता। अब न्यूजीलैंड के फर्स्ट क्लास क्रिकेटर एंड्रयू हेजलडाइन के करियर को बड़ा झटका लगा है क्योंकि वो हॉजकिंग्स लिंफोमा से पीड़ित हो गए हैं। ये एक तरह का कैंसर है जिससे इम्यून सिस्टम पर असर पड़ता है। तेज गेंदबाद को इस बीमारी का पता सितंबर २०२० में हुआ था। राहत की बात ये है कि उनकी ये बीमारी शुरुआती स्टेज में है और एंड्रयू काफी तेजी से सेहतमंद हो रहे हैं। उम्मीद है कि वो अगले सीजन से घरेलू क्रिकेट खेल पाएंगे। वो कैंटरबरी टीम के लिए प्रथम श्रेणी क्रिकेट खेलते हैं, इस टीम की तरफ से उन्होंने मार्च २०१८ में डेब्यू किया था। बाएं हाथ के इस तेज गेंदबाज ने १५ फर्स्ट क्लास मैच में ३५ विकेट हासिल किए है, उनका बेस्ट बॉलिंग फिगर ५/३३ रहा है. इसके अलावा १६ लिस्ट ए गेम में उन्होंने २१ विकेट चटकाए हैं। कैंटरबरी किंग्स टीम के लिए उन्होंने एकमात्र टी-२० मैच खेला है।

सिराज का दुख


इससे बड़ा दुःख और क्या हो सकता है कि पिता की मौत हो गई हो और बेटा अंतिम संस्कार में भी न जा सके। चार टेस्ट मैचों की आगामी सीरीज के लिए ऑस्ट्रेलिया में मौजूद तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज के पिता मोहम्मद गौस का निधन हो गया। गौस ५३ साल के थे और फेफड़ों की बीमारी से जूझ रहे थे। एक क्रिकेटर के रूप में सिराज की सफलता में उनके पिता की अहम भूमिका रही और सीमित संसाधनों के बावजूद उन्होंने अपने बेटे की महत्वाकांक्षाओं का समर्थन किया। सिराज की इंडियन प्रीमियर लीग टीम रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु ने ट्वीट किया, ‘मोहम्मद सिराज और उनके परिवार के प्रति हम तहेदिल से प्रार्थना करते हैं और शोक जताते हैं, जिन्होंने अपने पिता को खो दिया। पूरी आरसीबी परिवार इस मुश्किल समय में आपके साथ है. मियां, मजबूत बने रहिए।’ चूंकि सिराज आस्ट्रेलिया में है और टेस्ट सीरीज का शुभारंभ है इसलिए वो हिन्दुस्थान नहीं आ सकेंगे।

कश्मीर से कन्याकुमारी का आदित्य


कश्मीर से कन्याकुमारी का आदित्य यानि सूर्य बनकर उभरेंगे हिन्दुस्थान के पहले पैरासाइक्लिस्ट और लिम्बा बुक ऑफ रिकॉर्डधारी आदित्य मेहता। जिनकी अगुवाई में देश के शीर्ष पैरा साइक्लिस्ट इन्फिनिटी राइड २०२० के तहत कश्मीर से कन्याकुमार तक यात्रा करने के लिए तैयार हैं। इस राइड का उद्देश्य देश में पैरा प्रतिभाओं के प्रति जागरूकता लाना है। यह राइड सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) द्वारा समर्थित आदित्य मेहता फाउंडेशन (एएमएफ) की है। यह राइड श्रीनगर के निशांत बाग से गुरुवार को शुरू हुई और सीमा सुरक्षा बल के निदेशक राकेश अस्थाना ने इसे फ्लैग ऑफ किया। यह यात्रा कन्याकुमारी के तिरुनेवेली में २९ दिसंबर को समाप्त होगी। २०२० संस्करण इस बार ४१ दिनों का होगा और यह ३४ शहरों को कवर करेगा। इन्फिनिटी राइड २०२० का यह छठा साल है, जिसका नेतृत्व इस बार बीएसएफ के जवान और एशियन पैरा साइक्लिंग चैम्पियनशिप के कांस्य पदक विजेता हरिंदर सिंह और एशियन गेम्स ट्रैक साइक्लिंग के कांस्य पदक विजेता गुरलाल सिंह कर रहे हैं। वे इस बार न केवल इसमें भाग लेंगे बल्कि करीब ३८०१ किलोमीटर लंबी इस यात्रा के दौरान टीमों का नेतृत्व भी करेंगे।

खुश हुए दादा!
क्रिकेट के दादा फुटबॉल से खुश हैं। दरअसल, कोविड-१९ महामारी के बीच शुरू होने वाले देश के फुटबॉल सीजन से बीसीसीआई (भारतीय क्रिकेट बोर्ड) अध्यक्ष सौरव गांगुली काफी उत्साहित हैं क्योंकि उनका मानना है कि इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के सफल आयोजन से देश भर में बड़ी प्रतियोगिताओं के आयोजन को लेकर भय कम होगा। एटीके मोहन बागान फुटबॉल क्लब के सह मालिक गांगुली ने गुरुवार को उम्मीद जताई कि गोवा में जैविक रूप से सुरक्षित माहौल में आयोजित की जाने वाली आईएसएल से अन्य खेलों को प्रेरणा मिलेगी। बीसीसीआई अध्यक्ष ने हाल में संयुक्त अरब अमीरात में ‘बायो-बबल’ में इंडियन प्रीमियर लीग के सफल आयोजन की देखरेख की। उन्होंने आईएसएल के अधिकारिक हैंडल के लिए इंस्टाग्राम लाइव सीजन में कहा कि लॉकडाउन के बाद भारत में पहली खेल प्रतियोगिता आयोजित होगी। यह बहुत ही अच्छी चीज की शुरुआत है क्योंकि जीवन को सामान्य रूप से पटरी पर लौटने की जरूरत है।

(लेखक सम सामयिक विषयों के टिप्पणीकर्ता हैं। ३ दशकों से पत्रकारिता में सक्रिय हैं व दूरदर्शन धारावाहिक तथा डाक्यूमेंट्री लेखन के साथ इनकी तमाम ऑडियो बुक्स भी रिलीज हो चुकी हैं।)