" /> झींगा चोरी प्रकरण : पालघर पुलिस अधीक्षक ने किया केलवे रोड के एपीआई को निलंबित

झींगा चोरी प्रकरण : पालघर पुलिस अधीक्षक ने किया केलवे रोड के एपीआई को निलंबित

पालघर जिले के ग्रामीण क्षेत्र स्थित केलवे पुलिस स्टेशन के एपीआई राजू नरवडे को पुलिस अधीक्षक दत्तात्रय शिंदे ने निलंबित कर दिया है। झींगा-मछलियों की लूट मामले को हल्के में लेने के कारण यह कार्रवाई की गई है।
प्राप्त जानकारी के मुताबिक केलवे पुलिस स्टेशन के अंतर्गत आनेवाले इलाके में किसानों द्वारा तैयार किए गए झींगा प्रकल्प में पाली गई मछलियों की लूटपाट की घटना आए दिन अलग-अलग जगहों पर घटने से श्रमिक उत्पादक खौफजदा थे। दो से तीन बार 100 से अधिक अज्ञात लोग 250 सौ 300 किलो झींगा मछली लूट कर फरार हो गए थे। तंग आकर पीड़ितों ने झींगा चोरी घटना की शिकायत दर्ज करने की मांग केलवे रोड पुलिस स्टेशन के एपीआई राजू नरवड़े से मांग की थी। नरवड़े मामले को नजर अंदाज करके ठंडे बस्ते में डाल दिया। इससे शिकायतकर्ताओं को मायूस होकर वापस लौटना पड़ा। 18 जून को 13 से 14 लुटेरे इससे उत्साहित होकर दूसरी बार फिर झींगा प्रकल्प में घुस गए। वहां लुटेरों ने श्रमिकों से मारपीट करके उन्हें रूम में बंदी बना दिया और झींगा-मछली चोरी करके फरार हो गए, जिसकी शिकायत करने के लिए प्रकल्प के मालिक अनंत गोविंद पाटील व राहुल जगताप द्वारा केलवे रोड पुलिस स्टेशन का दरवाजा खटखटाया गया। उनकी  शिकायत को एक बार फिर नजर अंदाज किया। न्याय न मिलने पर नाराज होकर पीड़ितों ने पालघर के पुलिस अधीक्षक दत्तात्रय शिंदे के पास न्याय की गुहार लगाई। मामले को संज्ञान में लेकर पुलिस अधीक्षक ने केलवे रोड पुलिस स्टेशन में आरोपियों के खिलाफ शिकायत दर्ज करने का आदेश दिया। केलवे पुलिस ने 23 जून को रात ग्यारह बजे आरोपियों के खिलाफ लूटपाट व चोरी का मामला दर्जकर छह आरोपियों को गिरप्तार कर लिया। उक्त मामले में केलवे पुलिस द्वारा लापरवाही बरतने का दोषी पाए जाने  पर तुरंत पुलिस अधीक्षक दत्तात्रय शिंदे ने अहम फैसला लेकर केलवे के एपीआई राजू नरवड़े को निलंबित कर दिया।