" /> पंचांग

पंचांग

नवंबर- २०२१ कार्तिक मास शुक्लपक्ष शक संवत- १९४३ विक्रम संवत- २०७८
सोमवार ८ नवंबर- कार्तिक मास शुक्लपक्ष की चतुर्थी तिथि शाम ६.१६ बजे तक, विनायकी श्री गणेश चतुर्थी, सूर्य षष्ठी प्रारंभ (३ दिनों तक), भद्रा दिन में ७.२७ बजे से शाम ६.१६ बजे तक।
मंगलवार ९ नवंबर- कार्तिक मास शुक्लपक्ष की पंचमी तिथि दिन में ४.०३ बजे तक, सूर्य षष्ठी व्रत का द्वितीय दिन।
बुधवार १० नवंबर- कार्तिक मास शुक्लपक्ष की षष्ठी तिथि दिन में १.५८ बजे तक, श्री सूर्य षष्ठी व्रत, शाम को सूर्य को अर्घ्यदान, रात्रि शेष में अरुणोदय काल में द्वितीय अर्घ्यदान, डाला छठ (बिहार), श्री स्कंदषष्ठी ६ व्रत।
बृहस्पतिवार ११ नवंबर- कार्तिक मास शुक्लपक्ष की सप्तमी तिथि दिन में १२.१० बजे तक, सूर्यषष्ठी व्रत की पारणा, भद्रा दिन में १२.१० बजे से रात्रि ११.२६ बजे तक
शुक्रवार १२ नवंबर- कार्तिक मास शुक्लपक्ष की अष्टमी तिथि दिन में १०.४१ बजे तक, गोपाष्टमी ८, आज के दिन गायों को अलंकृत करके पूजन करना श्रेष्ठ माना गया है।
शनिवार १३ नवंबर- कार्तिक मास शुक्लपक्ष की नवमी तिथि दिन में ९.३७ बजे तक, अक्षय नवमी।
रविवार १४ नवंबर- कार्तिक मास शुक्लपक्ष की दशमी तिथि दिन में ९.०० बजे तक, नेहरू जयंती (बाल दिवस), भद्रा रात्रि ८.५६ बजे से प्रारंभ।
(लेखक प्रसिद्ध धर्माचार्य और श्री काशी विश्वनाथ मंदिर, वाराणसी के पूर्व न्यासी हैं।)