" /> शांतिपूर्ण रही थर्टी फर्स्ट नाइट… ड्रिंक एंड ड्राइव के सिर्फ ३५ मामले

शांतिपूर्ण रही थर्टी फर्स्ट नाइट… ड्रिंक एंड ड्राइव के सिर्फ ३५ मामले

मुंबई पुलिस को मिला मुंबईकरों का सहयोग

कोरोना के चलते मुंबईकर बाहर इकट्ठा होकर पार्टी ना कर सकें, इसके लिए नाइट कर्फ्यू को लागू किया गया था। मुंबई पुलिस और मुंबईकरों के सहयोग के चलते थर्टी फर्स्ट की नाइट बेहद शांतिपूर्ण नजर आई। मुंबई पुलिस की बेहतरीन योजना के चलते, समुद्र तटों और अन्य सार्वजनिक जगहों को रात ११ बजे से पहले खाली करवा दिया गया। थर्टी फर्स्ट के समय गुलजार रहने वाले गेटवे ऑफ इंडिया और मरीन ड्राइव सहित शहर के अन्य चौपाटी पर सन्नाटा पसरा रहा।
नए साल के जश्न मनाने के लिए भीड़ ना जमा हो इसके लिए मुंबई में ५ जनवरी तक नाइट कर्फ्यू लगाया गया है। आवश्यक सेवाओं को छोड़कर, अन्य सभी दुकानें रात ११ बजे से पहले बंद करने का निर्देश दिया गया है। चार से अधिक लोगों को इकट्ठा होने से रोक दिया गया था। घर पर थर्टी फर्स्ट मनाने की अपील करते हुए मुंबई पुलिस ने कानून व्यवस्था को बनाए रखने के लिए कड़े इंतजाम किए थे। कानून-व्यवस्था न बिगड़े और भीड़ के कारण कोरोना संक्रमण न बढ़े इसके लिए पुलिस के जवान शहर के चप्पे-चप्पे पर तैनात थे। सार्वजनिक स्थानों को रात ११ बजे से पहले पुलिस ने खाली करा दिया। वर्ली सी फेस, दादर चौपाटी, जुहू, गोराई, अक्सा बीच के साथ-साथ पर्यटक स्थलों और मैदानों में भीड़ को हटा दिया गया। शहर के हर कदम पर पुलिस तैनात थी। मुंबई में कानून-व्यवस्था के प्रभारी पुलिस आयुक्त विश्वास नांगरे पाटिल सहित मुंबई पुलिस के सभी वरिष्ठ अधिकारी गुरुवार रात ड्यूटी पर थे।
पुलिस मित्रों की मदद
लगभग ३२ हजार पुलिस, २५०० ट्रैफिक पुलिस, एसआरपीएफ इकाइयां, विशेष कार्य बल मुंबई की सड़कों पर तैनात किए गए थे। गुरुवार सुबह से ही मुंबई की सड़कों पर सादे कपड़ों में पुलिस की गश्त शुरू कर दी गई थी। संवेदनशील जगहों पर ड्रोन से निगरानी की जा रही थी। विभिन्न स्थानों पर नाकाबंदी कर वाहनों की तलाशी ली जा रही थी। इसके लिए पुलिस मित्र नामक स्वयंसेवकों की मदद ली जा रही थी।
नशे में वाहन चालकों पर कार्रवाई
ट्रैफिक पुलिस ने इस बार ड्रिंक एंड-ड्राइव ऑपरेशन नहीं किया क्योंकि कोरोना का खतरा अभी तक कम नहीं हुआ है। हालांकि, जिन ड्राइवरों को नाकाबंदी के दौरान शराब पीने का संदेह था, उन्हें मेडिकल परीक्षण के लिए अस्पताल ले जाया गया। कार्रवाई के दौरान ३५ शराबी चालक पाए गए। भीड़भाड़ और मास्क नहीं पहनने पर ड्राइवरों पर कार्रवाई भी की गयी।
पिछले साल की यादों को किया याद
मुंबईकरों ने कोरोना को देखते हुए भीड़ में न जाने के लिए सावधानी दिखाई। कुछ लोग पिछले साल थर्टी फर्स्ट के दौरान मुंबई पुलिस के साथ फोटो और सेल्फी लिए हुए फोटो को सोशल मीडिया पर पोस्ट कर रहे थे। ये तस्वीरें ट्विटर के साथ-साथ अन्य सोशल मीडिया पर भी वायरल हो गर्इं, जिससे मुंबईकरों की यादें वापस आ गर्इं। मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर अहमद जावेद ने भी अपने कार्यकाल के दौरान खींची गई तस्वीरों को अपलोड कर अपनी यादों को ताजा किया।