" /> किसानों की बात सुनना पीएम मोदी का कर्तव्य : प्रियंका

किसानों की बात सुनना पीएम मोदी का कर्तव्य : प्रियंका

ठाकुर बांके बिहारी के दर्शनार्थ आई कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने पत्रकारों से रूबरू होते हुए कहा कि मैं कभी भगवान से मांगती नहीं हूं क्योंकि भगवान ने बिना मांगे बहुत कुछ दिया है। मैं केवल उनका आभार जताती हूं।

किसानों के आंदोलन पर उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने उन्हें सत्ता में पहुंचाया, उनकी सरकार बनाई उन लोगों की अनदेखी करना सही बात नहीं है। उन्होंने कहा कि आंदोलन कर रहे किसानों की आवाज जनता की आवाज है। प्रधानमंत्रीजी का कर्तव्य है कि वह किसानों की बात सुने और उनकी समस्याओं का समाधान करें। किसानों को आतंकवादी कहना, उन्हें देशद्रोही कहना, उन्हें अपशब्द कहना यह बहुत बड़ा पाप है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री अब जनता से अलग हो चुके हैं। वह जनता को भूल चुके हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 7 साल सत्ता में रहकर यह भूल चुके हैं कि जनता ने ही उन्हें प्रधानमंत्री बनाया है। कहा कि प्रधानमंत्री की नीतियां जनता के लिए नहीं बल्कि उनके खरबपति मित्रों के लिए बनी है। उनके मित्रों के उत्थान के लिए बन रही है। उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी से अपील की है कि वह एक बार जनता के हित में बॉर्डर पर जाएं और आंदोलन कर रहे किसानों से मिलकर उनकी समस्या का समाधान करें। अगर वह नहीं जाते हैं तो इसका मतलब साफ है कि वह जनता से अलग हो चुके हैं।