" /> पूछती है पुलिस!… ‘रिपब्लिक’ टीवी की शुरू हुई जांच

पूछती है पुलिस!… ‘रिपब्लिक’ टीवी की शुरू हुई जांच

मुंबई पुलिस द्वारा ‘रिपब्लिक’ टीटी के सीईओ विकास खानचंदानी को समन जारी करने के बाद कल रविवार को उनसे पूछताछ हुई। क्राइम इंटेलिजेंस यूनिट ने ‘रिपब्लिक’ से जुड़े हुए हर्ष भंडारी एवं विकास से करीब ९ घंटे तक पूछताछ की। इसके अलावा ‘रिपब्लिक’ से जुड़े हुए घनश्याम सिंह से दमन में पूछताछ की गई। टीआरपी फर्जीवाड़े के आरोपी विशाल भंडारी के घर एक डायरी मिली है, जिसमें मनी लॉन्ड्रिंग के रिकॉर्ड थे। यह डायरी पुलिस के लिए चैनलों और उनकी टीआरपी घोटाले की जांच में महत्वपूर्ण साबित हो सकती है। इससे इस मामले की और भी पोल खुल सकती है।
बता दें कि मुंबई पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने पिछले गुरुवार को एक प्रेस कॉन्प्रâेंस कर कुछ टीवी चैनलों के टीआरपी घोटाले का पर्दाफाश किया था। हंसा ग्रुप के पूर्व कर्मचारी विशाल भंडारी ने पुलिस को बताया कि वह ‘रिपब्लिक’ एवं अन्य २ चैनलों को चालू रखने के लिए साधारण परिवारों को चार से पांच सौ रुपए महीने का भुगतान कर रहा था। क्राइम ब्रांच की एक टीम ने विशाल के घर पर छापा मारा और पुलिस के हाथ एक डायरी लगी। इस डायरी में कितना पैसा लिया गया, किसको कितना दिया गया आदि बातें दर्ज हैं। सूत्रों के मुताबिक, इस डायरी में दर्ज जानकारी के आधार पर, पुलिस द्वारा पूछताछ के लिए कुछ और लोगों को बुलाने की संभावना जताई जा रही है।
पुलिस ने ‘रिपब्लिक’ के चार व हंसा कंपनी के दो लोगों को पूछताछ के लिए बुलाया था। छह में से तीन से कल पुलिस ने पूछताछ की। रिपब्लिक नेटवर्क के सीईओ विकास खानचंदानी और मुख्य परिचालन अधिकारी हर्ष भंडारी से आठ से नौ घंटे तक पुलिस मुख्यालय में पूछताछ की गई। वितरण विभाग के प्रमुख घनश्याम सिंह से दमन में पूछताछ की गई। इस बीच, रिपब्लिक के सीएफओ शिवा सुब्रमण्यम सुंदरम और मुख्य परिचालन अधिकारी प्रिया मुखर्जी ने पुलिस को सूचित किया है कि वे मुंबई पहुंचने पर पूछताछ के लिए मौजूद रहेंगे।