" /> अब कैदी जाएंगे इंग्लिश स्कूल!

अब कैदी जाएंगे इंग्लिश स्कूल!

वैश्विक महामारी कोरोना से बचने के लिए सभी स्कूल, कॉलेज पूरी तरह बंद होने के नाते कोई विद्यार्थी स्कूल या कॉलेज नहीं जा रहा है लेकिन कल्याण के एक निजी इंग्लिश स्कूल में विद्यार्थी तो नहीं बल्कि न्यायालय द्वारा जेल भेजे गए आरोपियों को 15 दिनों के लिए रहने के लिए भेजा जा रहा है। दूसरे शब्दों में कहा जाए तो इंग्लिश स्कूल को दूसरी जेल बना दिया गया है। इस स्कूल में अब विद्यार्थी नहीं बल्कि कैदी रह रहे हैं।
बता दें कि हाल ही में कोरोना के कारण कुछ कैदियों को पैरोल पर भी छोड़ा गया था। बावजूद इसके आधरवाड़ी जेल में अभी भी 800 कैदी मौजूद हैं। जेल प्रशासन अंदर के कैदियों और आधारवाड़ी जेल में ड्यूटी कर रहे अधिकारियों एवं कर्मचारियों को कोरोना से सुरक्षित रखने के लिए नए कैदियों को कल्याण-पश्चिम के डॉन वास्को स्कूल में रखा जा रहा है। न्यायालय द्वारा जेल भेजे गए नए कैदियों को 15 दिनों के लिए कड़ी सुरक्षा के बीच डॉन वास्को स्कूल में ले जाया गया है, उसके बाद कैदियों को जेल में लिया जाएगा। जेल प्रशासन ने डॉन वास्को स्कूल में कड़ी सुरक्षा कर रखी है। स्कूल के मुख्य गेट और आस-पास में सुरक्षा के कड़े इंतजाम के साथ ही स्कूल के अंदर भी निगरानी रखी जा रही है।