पुलवामा इफेक्ट! पाकिस्तानियों पर वीजा स्ट्राइक

अमेरिका और पाकिस्तान के बीच संबंध और कटु हो गए हैं। शुक्रवार को नागरिक निर्वासन और वीजा वापसी के मामले में दोनों देशों के बीच रिश्ते तल्ख हो गए हैं। अमेरिका में अपने नागरिक निर्वासन और वीजा वापस लेने से इनकार करने पर अमेरिका इस्लामाबाद पर प्रतिबंध लगा सकता है। यह कयास लगाए जा रहे हैं कि अमेरिका पाकिस्तान को वीजा देने से इंकार कर सकता है।
बता दें कि पुलवामा आतंकी हमले के बाद से ही पाकिस्तान के प्रति अमेरिकी रुख काफी सख्‍त हो गया है। अमेरिका ने वीजा कार्ड खेलकर पाकिस्तान पर जबरदस्त दबाव बनाया हुआ है।  इसी का नतीजा रहा कि पाकिस्‍तान को मजबूर कुछ संगठनों पर प्रतिबंध लगाना पड़ा है। इस घटना को इसी क्रम में जोड़कर देखा जा रहा है। गौरतलब हो कि पाकिस्‍तान दुनिया के उन १० राष्‍ट्रों की सूची में शामिल है, जिन पर अमेरिकी कानूनों के तहत प्रतिबंध लगाया गया है। इस कानून के अनुसार इन प्रतिबंधित राष्‍ट्रों के नागरिकों को वीजा से अधिक रहने या वीजा वापस लेने से इंकार करने पर अमेरिकी वीजा से वंचित किया जाएगा। पाकिस्‍तान और धाना को ट्रंप प्रशासन ने इस वर्ष इस सूची में शामिल किया है। इसके पूर्व वर्ष २००१ में गुयाना, २०१६ में गाम्बिया, कंबोडिया, इरिट्रिया, गिनी और २०१७ में बर्मा और लाओस शामिल हैं। वर्ष २०१८ में अमेरिका ने ३८ हजार पाकिस्‍तानी नागरिकों को वीजा देने से इंकार किया था। अब तक पाकिस्‍तान इन आतंकी संगठनों को फलने-फूने का पूरा मौका दे रहा था।