" /> भारतीय सेना ने दी कोरोना योद्धाओं को सलामी : अधिकारियों और कर्मचारियों को संभागीय आयुक्त कार्यालय में किया गया सम्मानित

भारतीय सेना ने दी कोरोना योद्धाओं को सलामी : अधिकारियों और कर्मचारियों को संभागीय आयुक्त कार्यालय में किया गया सम्मानित

पूरे देश में कोरोना संक्रमण बढ़ रहा है। संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए देश भर में तालाबंदी है। इस समय सभी लोग घर पर हैं लेकिन पुलिस, मेडिकल टीम और सफाईकर्मी, मीडिया प्रतिनिधि नियमित रूप से अपनी सेवाएं दे रहे हैं। वे सचमुच कोरोना लडाई में योद्धा हैं। इन योद्धाओं के सम्मान में
भारतीय सेना ने कल पूरे देश में फूलों की वर्षा करके कोरोना वारियर्स को सम्मानित किया। कश्मीर से कन्याकुमारी तक भारतीय सेना के एक विशेष विमान ने फूलों की वर्षा की। पुणे में कोरोना का इलाज कर रहे अस्पताल पर भी फूलों की वर्षा की गई।
मेजर जनरल नवनीत कुमार ने कहा कि भारतीय सेना ने पुलिस, स्वास्थ्य प्रणाली और सफाईकर्मियों का मनोबल बढ़ाने के लिए यह विशेष पहल शुरू की है।
यह कार्यक्रम भारतीय सेना द्वारा संभागीय आयुक्त कार्यालय के परिसर में सामाजिक दूरी के साथ आयोजित किया गया था। डॉ. दीपक म्हैसेकर, मेजर जनरल नवनीत कुमार, कर्नल शर्मा, आर. एस पटियाल सहित सरकारी अधिकारी और कर्मचारी उपस्थित थे। मेजर जनरल नवनीत कुमार ने कहा, ‘कोरोना की लड़ाई में योद्धाओं को ताकत देना हमारा कर्तव्य है और पुणे डिवीजन के तहत 22 जिलों में यह पहल लागू की जा रही है। हमें कोरोना सैनिकों पर गर्व है, जो तालाबंदी के समय में डॉक्टरों, नर्सों, सफाईकर्मियों और सरकारी अधिकारियों को सेवाएं प्रदान कर रहे हैं।’

इस अवसर पर संभागीय आयुक्त डॉ. दीपक म्हैसेकर ने इस पहल के लिए भारतीय सेना को धन्यवाद दिया। संभागीय आयुक्त डॉ. दीपक म्हैसेकर, डिप्टी कमिश्नर (रेवेन्यू) प्रताप जाधव, डिप्टी कमिश्नर (जनरल) संजय सिंह चव्हाण, डिप्टी कमिश्नर जयंत पिंपलगांवकर, अतिरिक्त कलेक्टर रूपाली अवाले, तहसीलदार, सहायक उप निदेशक (स्वास्थ्य) उप निदेशक खांडेकर, तहसीलदार मनीषा देशपांडे, लेखा अधिकारी गणेश सस्टे, उप तहसीलदार बालासाहेब क्षीरसागर, स्वयं सहायता सहायक अनिकेत जोशी, स्वयं सहायता सहायक संजय भुकान, अर्चना फड़नीस, क्लर्क सचिन सांगडे, ड्राइवर बाला खड़गे चपरासी शरद टेकवाडे आदि को सम्मानित किया गया। इस अवसर पर विभिन्न विभागों के वरिष्ठ अधिकारी और कर्मचारी उपस्थित थे।