" /> स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने ली महाराष्ट्र को तंबाकू मुक्त करने की शपथ

स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने ली महाराष्ट्र को तंबाकू मुक्त करने की शपथ

तंबाकू मुक्ति केंद्र से किया गया साढ़े पांच लाख लोगों का उपचार
26 हजार स्कूल व 2,442 स्वास्थ्य संस्था हुईं तंबाकू मुक्त

विश्व तंबाकू निषेध दिवस के अवसर पर राज्य के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कल राज्य के लोगों को तंबाकू से मुक्ति की शपथ दिलाई और स्वास्थ्य मंत्री ने खुद महाराष्ट्र को तंबाकू मुक्त करने की शपथ ली। स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि राज्य में 224 तम्बाकू मुक्त केंद्रों के माध्यम से लगभग साढ़े पांच लाख रोगियों का इलाज किया गया है। उन्होंने यह भी कहा कि कोरोना के मद्देनजर और विश्व तंबाकू निषेध दिवस से दो दिन पहले राज्य सरकार ने सार्वजनिक स्थानों पर धूम्रपान और थूकने पर प्रतिबंध आदेश जारी किया था।
हर साल 31 मई को विश्व तंबाकू निषेध दिवस के रूप में मनाया जाता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के मार्फत इस वर्ष का नारा दिया गया है, ‘युवाओं को तंबाकू उद्योग के चंगुल से बचाएं और उन्हें तंबाकू और निकोटिन के इस्तेमाल से दूर रखें।’ ऐसा नारा दिया गया है। इस संदर्भ में स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि महाराष्ट्र में 26 हजार, 418 स्कूल और 2,442 स्वास्थ्य संस्था को तंबाकू मुक्त किया गया है। तंबाकू नियंत्रण कानून के तहत करीब 6 करोड़, 54 लाख, 24 हजार, 430 रुपए का दंड वसूल किया गया है। तंबाकू मुक्ति केंद्र के माध्यम से 41 हजार, 415 रोगियों का उपचार किया गया है, जिसमें से 25 हजार, 275 लोगों को तंबाकू मुक्त किया गया है। जुलाई, 2018 तक राज्य में हुक्का बंदी की गई थी। पिछले चार वर्ष से राज्य में मुंह कैंसर रोग जांच शिविर का आयोजन किया जा रहा है। कल अपने सरकारी निवास स्थान पर स्वास्थ्य मंत्री ने तंबाकू विरोधी शपथ ली है कि मैं अपने कार्यालय, घर, अपना गांव, स्कूल और पूरे महाराष्ट्र को तंबाकू मुक्त करने का प्रयत्न करूंगा, ऐसी शपथ स्वास्थ्य मंत्री ने ली।