" /> वरिष्ठ नागरिक ने दिखाया बड़ा दिल : मुख्यमंत्री राहत कोष में दान किए एक लाख रुपए

वरिष्ठ नागरिक ने दिखाया बड़ा दिल : मुख्यमंत्री राहत कोष में दान किए एक लाख रुपए

कोरोना जैसी महामारी पर मात देने के लिए जिस तरह से पुलिस, नर्स, डॉक्टर, सफाई कर्मचारी के साथ-साथ बहुत सारे लोग लॉकडाउन में अत्यावश्यक सेवा के रूप में सेवक बनकर दवा, खाद्य सामग्री, पानी, बिजली  आदि द्वारा जनता की सेवा कर रहे हैं। इस सेवा में सरकार की आर्थिक सेवा करने के लिए एक मध्यमवर्गीय सेवानिवृत्त 65 वर्षीय वरिष्ठ नागरिक ने एक लाख रुपए मुख्यमंत्री राहत कोष में जमा कराकर एक मिसाल कायम की है।

कहते हैं कि दान और सहायता करने के लिए दिल होना चाहिए। इस कहावत को उल्हासनगर कैंप नंबर-4 के अंबिकानगर में माधव हिरुलकर ने चरितार्थ कर दिखाया है। हिरुलकर पत्नी व तीन पुत्रियों के साथ रहते हैं। हिरुलकर माटुंगा के रेलवे वर्कशॉप से 5 साल पहले ही सेवानिवृत्त हो गए हैं। बताया गया कि हिरुलकर असाध्य रोग से ग्रसित हैं। दवा लेनी पड़ रही है। घर की स्थिति बहुत अच्छी नहीं है फिर भी वे दिल के धनी हैं। हिरुलकर के मन में भी औरों की तरह सरकार की मदद करने की मंशा जागृत हुई। उन्होंने अपने परिवार से विचार-विमर्श किया। घर के सभी लोगों ने उनकी मंशा को प्रतिसाद दिया। घरवालों ने मुख्यमंत्री राहत कोष में आर्थिक मदद करने को सहमति दे दी। फिर क्या था हिरुलकर ने अंबरनाथ स्थित स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की शाखा, जहां उनकी पेंशन आती थी, वहां से एक लाख रुपए मुख्यमंत्री राहत कोष में जमा करवा दिया। हिरुलकर द्वारा किए गए इस कार्य की उल्हासनगर में दिल खोलकर सराहना हो रही है।