" /> बेटियों का कब्रगाह बना शाहजहांपुर! एक दिन में तीसरी बच्ची बनी निशाना

बेटियों का कब्रगाह बना शाहजहांपुर! एक दिन में तीसरी बच्ची बनी निशाना

‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ का नारा उत्तर प्रदेश में थोथा साबित हो रहा है। शाहजहांपुर में दो बच्चियों के गायब होने की खबर अभी ठंढी भी नहीं हुई थी कि जिले में एक और अध अर्धनग्न अवस्था मे मिली जली छात्रा के बरामद होने से सनसनी फैल गयी। आनन-फानन में पहुंची पुलिस ने उसे एंबुलेंस के जरिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उसकी नाजुक हालत को देखते हुए लखनऊ रेफर कर दिया गया है। मौके पर पहुंचे परिजन किसी अनहोनी की घटना की आशंका जाहिर कर रहे हैं।

सोमवार को कांट थाना क्षेत्र की रहने वाली एसएस कॉलेज की छात्रा जब संदिग्ध हालात में जली हुई मिली तो एक बार फिर तमाम आशंकाएं उभर आईं। छात्रा के पिता ने बताया कि वह अपनी बेटी को हर दस-पंद्रह दिन में कॉलेज लेकर आते-जाते थे। सोमवार सुबह करीब दस बजे वह बेटी को कॉलेज में छोड़कर चले गए थे।

मामला थाना तिलहर के नगरिया मोड़ की है, जहां खेतों में बीए द्वितीय वर्ष की छात्रा जली हुई अवस्था में पड़ी मिली। अर्थनग्न अवस्था में मिली छात्रा को स्थानीय लोगों ने ढककर पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने एंबुलेंस के जरिए उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया। बताया जा रहा है कि वह अपने पिता के साथ सोमवार को एसएस कॉलेज में पढऩे के लिए आई थी। 3 बजे छुट्टी होने के बाद वह नहीं मिली। करीब 5:00 बजे पुलिस ने घरवालों को सूचना दी कि उनकी बेटी जाली हुयी हालत में मिली है। आनन-फानन में पुलिस ने झुलसी हुई छात्रा को अस्पताल में भर्ती कराया। छात्रा 65 फीसदी तक जल चुकी है। उसकी हालत नाजुक होने पर उसे लखनऊ रेफर कर दिया गया, लेकिन इस बात पर अभी भी सस्पेंस बना हुआ है कि कॉलेज से नगरिया मोड़ पर कैसे पहुंची? मौके पर पहुंचे मजिस्ट्रेट ने उसके बयान दर्ज किए हैं। पुलिस ने बताया कि छात्रा अपने गांव से कॉलेज गई है, जहां उसने क्लास अटेंड नहींं किया। उसके बाद उसके साथ क्या हुआ वह उसे नहीं पता।

इससे पहले सोमवार को ही थाना कांट के खिजरपुर गांव का है, जहां दो चचेरी बहनें घर के बाहर खेल रही थीं। फिर वे अचानक से लापता हो गईं। परिजनों के साथ जब स्थानीय लोगों ने ढूंढा तो एक बच्ची का शव सरसों के खेत में पड़ा मिला। दूसरी बच्ची के न मिलने पर पुलिस को बुलाया गया। पुलिस ने कॉम्बिंग कर दूसरी बच्ची को गन्ने के खेत से बरामद कर लिया। घायल अवस्था में मिली दूसरी बच्ची को तत्काल पुलिस की गाड़ी से अस्पताल भेजा गया जहां उसकी हालत नाजुक बनी हुई है। घायल बच्ची के बेहतर इलाज के लिए मंगलवार सुबह शाहजहांपुर से बरेली रेफर कर दिया गया।

एसपी एस आनंद ने बताया कि सोमवार को एक 4 साल की बच्ची मृत अवस्था में मिली। उसके गले पर चोट के निशान हैं। दूसरी बच्ची को लोगों व पुलिस ने घायल अवस्था में बरामद किया था। जबकि दूूसरी घटना में मिली अधजली छात्रा कुछ बोल नहीं पा रही है। महिला पुलिसकर्मी और डॉक्टर उससे लगातार संपर्क कर रहे हैं। परिजन हायर सेंटर नहीं ले जाना चाहते लेकिन उन्हें राजी किया जा रहा है। एसएसपी ने बताया कि पुलिस सर्विलांस व अन्य माध्यमों से अपराधियों की तलाश कर रही है। जल्द ही गुनहगार पकड़े जायेंगे।