" /> शरद पवार ने लिखा मोदी को पत्र : जनतंत्र से साथ रुक गया है राज्य के अर्थतंत्र

शरद पवार ने लिखा मोदी को पत्र : जनतंत्र से साथ रुक गया है राज्य के अर्थतंत्र

कोरोना जैसी महामारी के कारण देश सहित महाराष्ट्र की हालत खराब है। इस महामारी के कारण जनजीवन के साथ-साथ अर्थतंत्र की गाड़ी भी पूरी तरह से ठप्प हो गई है। राज्य के उत्पन्न के श्रोत बंद हो गए हैं, जिसके कारण राज्य सरकार के सामने कोरोना संकट के साथ आर्थिक संकट भी खड़ा हो गया है। इस पार्श्वभूमि पर राष्ट्रवादी काग्रेस पार्टी के अध्यक्ष शरद पवार ने कल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और वित्त मंत्री निर्मला सीतारामन को पत्र लिखकर संभावित आर्थिक स्थिति के बारे में इशारा की है। पवार ने कोरोना के कारण राज्य में निर्माण हुई आर्थिक स्थिति के बारे पत्र लिखकर जानकारी दी है।
चालू आर्थिक वर्ष में राज्य की तिजोरी ३,४७,००० करोड़ रुपए का राजस्व आने का अनुमान था। परंतु लॉक डाउन के कारण राज्य को प्रचंड फटका लगा है। लॉक डाउन के कारण १,४०,००० करोड़ राजस्व कम होने का अनुमान है। ऐसा पवार ने पत्र में उल्लेख किया है। राजस्व के कम उत्पादन के कारण आनेवाले समय में राज्य के समक्ष गंभीर आर्थिक संकट उत्पन्न हो सकता है। ऐसा उल्लेख पवार ने पत्र में किया है। इसके अलावा आर्थिक तंगी कारण विकासशील योजनाओं पर पड़नेवाले प्रतिकूल प्रभाव सहित अन्य सभी आर्थिक मुद्दों का उल्लेख पवार ने मोदी व वित्त मंत्री को लिखे पत्र में की है।